DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कॉमनवेल्थ गेम्स : दिल्ली की मेजबानी को खतरा नहीं

ॉमनवेल्थ गेम्स फेडरशन ने बुधवार को फिर कहा है कि दिल्ली 2010 के खेलों की मेजबानी करेगा। उन्होंने इन खबरों को निराधार बताया गया है कि मुंबई में हुए आतंकी हमले के मद्देनजर दिल्ली की जगह किसी और विकल्प को तलाशा जा रहा है। कॉमनवेल्थ गेम्स फेडरशन के अध्यक्ष माइकल फेनेल ने एक बयान में मुंबई में आतंकी हमले में मार गए लोगों के प्रति अपनी संवेदना जताते हुए मीडिया में छपी इन खबरों को गलत करार दिया कि फेडरशन विकल्प की तलाश कर रही है। फेनेल ने कहा कि, ‘कभी भी इस बात पर विचार-विमर्श नहीं हुआ कि इन खेलों को दिल्ली के बजाए कहीं, और कराया जाए। यही नहीं किसी और शहर ने भी इसकी मेजबानी के लिए आवेदन नहीं किया है।’ उन्होंने कहा कि मुंबई में जो कुछ हुआ उससे हम सदमे में हैं। हमारी चिंता यह है कि हमार दोस्त और परिवार कैसी हालत में होंगे। फेनेल ने यह स्पष्ट किया है कि कॉमनवेल्थ गेम्स फेडरशन 2010 के खेलों की सुरक्षा के लिए चल रही सुरक्षा योजना में अहम भूमिका निभा रही है। फेडरशन के मुखिया ने कहा कि, जब कभी भी और कहीं भी खेल होते हैं तो फेडरशन सुरक्षा इंतजामों पर बारीकी से नजर रखती है। फेडरशन भारत सरकार, दिल्ली सरकार और आयोजन समिति के अधिकारियों के साथ इस मामले में तालमेल बना कर रखेगी।ोिजससे खेल सही ढंग से पूर्ण सुरक्षा के साथ आयोजित हो सकें। जिससे कॉमनवेल्थ खेलों के एथलीट सही वातावरण में पूरे सुरक्षित माहौल में शिरकत कर सकें। उन्होंने कहा भारतीय अधिकारियों के साथ मिलकर हम खेलों की तैयारियों का काम जारी रखेंगे और अगर जरूरत हुई तो हम समय समय पर सुरक्षा व्यवस्थाओं को दुरुस्त करते रहेंगे। फेनेल ने मुंबई में हुए आतंकी हमलों में मारे गए लोगों के प्रति अपनी गहरी संवेदना प्रकट की। उन्होंने कहा, आतंकवादियों की इस बर्बर कार्रवाई ने पूरी दुनिया क ो स्तब्ध कर दिया है और मैं इस हमले के पीड़ित परिजनों के प्रति अपनी संवेदना प्रकट करता हूं।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कॉमनवेल्थ: दिल्ली की मेजबानी को खतरा नहीं