DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नीतीश ने विप सदस्यों को पढ़ाया नैतिकता का पाठ

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार को विधान परिषद में सदस्यों को नैतिकता का पाठ पढ़ाते हुए कहा कि ‘सदन की अवमानना हो, ऐसा मैं नही देख सकता’। पूर्व मंत्री अशोक कुमार चौधरी द्वारा ग्रामीण कार्यविभाग के प्रधान सचिव अजय कुमार ठाकुर के खिलाफ दर्ज प्राथमिकी को सदन में पढ़ने पर घोर आपत्ति जताते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यह एक नई परंपरा की शुरूआत है। भोजनावकाश के बाद कार्यवाही शुरू होते ही परिषद सदस्य जगन्नाथ राय ने घटना की जानकारी दी और प्राथमिकी पढ़ने लगे।ड्ढr ड्ढr मौजूद संसदीय कार्य मंत्री रामाश्रय सिंह ने आपत्ति जताते हुए कहा कि प्राथमिकी सदन में नहीं पढ़ी जानी चाहिए। हस्तक्षेप करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि सरकार का ध्यान आकृष्ट कराने का यह स्टेा नहीं है। पहले पुलिस को अपना काम करने दिया जाय। सदस्य आरोप लगाते हैं कि पुलिस के काम में हस्तक्षेप होता है और उसे जांच का मौका भी नहीं देते। सदन में मुख्यमंत्री और सभापति को प्राथमिकी की प्रति देना एक सदन की गरिमा के खिलाफ होगा। इसके पूर्व विधान कांग्रस की सदस्य डॉ.ज्योति ने प्रधान सचिव अजय कुमार ठाकुर द्वारा पूर्व मंत्री अशोक कुमार चौधरी को जाति के नाम पर अपमानित करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि जब तक उनकी गिरफ्तारी नहीं होगी, वे न तो सदन की कार्यवाही में भाग लेंगी और न हस्ताक्षर करंगी। संसदीय कार्य मंत्री ने कि डॉ.ज्योति द्वारा प्रयोग में लाए गए शब्दों को सदन की कार्यवाही से हटाने का आग्रह किया तो सभापति ने कहा कि कार्यवाही शुरू ही नहीं है तो बातों को शामिल करने का सवाल ही कहां उठता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नीतीश ने विप सदस्यों को पढ़ाया नैतिकता का पाठ