अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पंजाब मेडिकल प्रवेश परीक्षा: चार छात्र संदेह के घेर में

पीएमसीएच के छात्रों के बीच फिर फर्जी परीक्षार्थी खोजने में जुटी है पंजाब की निगरानी टीम। चार विद्यार्थियों पर टीम की निगाहें ठिठक गई हैं। जांच की जद में आए छात्र-छात्राओं से बुधवार को गहन पूछताछ की गई। इसके साथ ही उनकी लिखित जांच कर हैंडराइटिंग का मिलान किया गया। इस मामले को लेकर कॉलेज के विद्यार्थियों में हड़कम्प है। संभावना है कि इन छात्र-छात्राओं को निगरानी टीम गिरफ्तार कर अपने साथ ले जाए।ड्ढr ड्ढr पंजाब मेडिकल प्रवेश परीक्षा में दूसर छात्र-छात्राओं की जगह परीक्षा देनेवाले दो छात्र और दो छात्राओं के फोटो पहचान को लेकर कॉलेज में हड़कम्प मचा है। पटियाला से आयी निगरानी की तीन सदस्यीय टीम मंगलवार से कॉलेज के छात्र-छात्राओं की गहन जांच कर रही है। प्राचार्य से अनुमति लेकर सबसे पहले 2005, 2006, 2007 और 2008 बैच के छात्र-छात्राओं का कॉलेज के नामांकन रजिस्टर से फोटो का मिलान किया जा रहा है।ड्ढr ड्ढr सूत्रों के अनुसार पंजाब की निगरानी टीम को दूसर छात्र-छात्राओं की जगह परीक्षा में शामिल होनेवाले 2विद्यार्थियों की तलाश है। इसके लिए टीम पीएमसीएच को केन्द्र बनाकर छानबीन कर रही है। टीम ने एनाटॉमी, बायोकेमिस्ट्री, फिजियोलॉजी, माइक्रोबायोलॉजी अदि विभाग में जाकर छात्र-छात्राओं की पहचान भी की। जिन छात्र-छात्राओं पर निगरानी टीम की निगाहें ठहरी हैं वे सभी 2008 बैच के हैं। इन छात्रों से बुधवार को शाम तक गहन पूछताछ की गयी। अभी निगरानी टीम के सदस्यों ने अपनी जुबान नहीं खोली है। हालांकि इस बात की पूरी संभावना है कि आरोप साबित होने पर उन छात्र-छात्राओं की गिरफ्तारी हो सकती है। जांच के लिए टीम उन्हें पटियाला भी ले जा सकती है। उधर नालंदा मेडिकल कॉलेज में भी टीम के सदस्यों ने जाकर प्राचार्य डा. (प्रो.) सी.बी.चौधरी से जांच की अनुमति मांगी थी। वहां पर उन्हें प्रथम और द्वितीय सत्र के छात्र-छात्राओं की जांच करनी थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पंजाब मेडिकल प्रवेश परीक्षा: चार छात्र संदेह के घेर में