अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कोटा बनने की राह पर है पटना

पटना अब कोटा बनने की राह पर है। यहां प्रतिभा की कोई कमी नहीं है। बस उचित मार्गदर्शन का अभाव है। जेईई क्लासेज ने उन छात्रों को मार्गदर्शन दिया है और अब गरीब छात्रों में भी उम्मीद जगी है। जेईई क्लासेज के प्रथम वार्षिकोत्सव समारोह का उद्घाटन करते हुए मानव संसाधन विकास मंत्री हरिनारायण सिंह कहा कि संस्थान का प्रयास बेहतर है। जेईई क्रैश-50 में गरीब छात्रों को स्थान मिल रहा है और अब वे आईआईटी में जाने का ख्वाब देख रहे हैं। इस प्रकार के प्रयास से बिहार से छात्रों का पलायन रुका है।ड्ढr ड्ढr इस मौके पर संस्थान के निदेशक इं. एएन सिंह ने कहा कि पहले साल में हमने आईआईटी जेईई में 68 छात्रों को पहुंचाया है और 200में हमारा लक्ष्य 150 छात्रों का है। हमारा लक्ष्य हर गांव से एक छात्र आईआईटी संस्थानों में भेजने का है। आईआईटी मुंबई के प्रो. टीएन सिंह ने कहा कि जेईई क्लासेज ने एक माहौल बनाया है। अब यहां के छात्रों को बाहर जाने की जरूरत नहीं है। अब राज्य में इं. एएन सिंह जसे छात्रों के मित्र, पथ-प्रदर्शक व कुशल शिक्षक मौजूद हैं जो छात्रों की हर परशानी को दूर कर सकते हैं। पद्मश्री सुधा वर्गीस ने कहा कि इं. सिंह ने गरीब तबके के बच्चों को बेहतर कोचिंग सुविधा देकर उनको बेहतर संस्थानों में दाखिले के योग्यड्ढr बना रहे हैं। कार्यक्रम में सिक्िकम के पूर्व मुख्य न्यायाधीश विनोद कुमार रॉय, उषा किरण खान, विधायक अरुण कुमार सिन्हा, चंद्रिका दास आदि ने भी विचार रखे। कार्यक्रम का संचालन इं. रमन सिंधी ने किया। इस मौके पर सांस्कृतिक कार्यक्रम भी पेश किया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कोटा बनने की राह पर है पटना