DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सेंट्रल एजेंसी के जिम्मे होगा काम

प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना (पीएमजीएसवाइ) के सातवें फेा का काम सेंट्रल एजेंसी के जिम्मे होगा। केंद्रीय स्तर पर एनबीबीसी, एनपीपीसी तथा एचएससीएल को यह काम मिला है। काफी समय से झारखंड में सेंट्रल पीएमजीएसवाइ के दूसर-तीसर फेा की स्थिति देखने के बाद यह मामला उठा था। सातवें फेा के लिए डीपीआर को आरइओ सचिव एके सरकार ने केंद्रीय एजेंसियों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक की। इसमें चीफ इंजीनियर अनुग्रह शामिल थे।कितने पैकेा तथा फंड की जरूरत होगी, इसकी भी चर्चा हुई। सातवें फेा में जनजातीय इलाकों पर विशेष ध्यान दिया जाना है। ढाई से पांच सौ आबादी वाले सभी गावों को सड़क से जोड़ने की योजना है। लेकिन सेंट्रल एजेंसियों मिले काम पर बाद में सवाल खड़े होने का अंदेशा अभी से लगने लगा है। झारखंड में केंद्रीय एजेंसियों के पास विभिन्न विभागों का करोड़ों का काम है, लेकिन कई महत्वपूर्ण योजनाओं की प्रगति घिसट रही है। छठा फेा : इके 2पैकेा के तहत 2किमी ग्रामीण सड़क (पक्की) का निर्माण कराया जाना है। हाल ही में केंद्र ने रोड़ की स्वीकृति दी है। चीफ इंजीनियर अनुग्रह के मुताबिक योजनाओं की तकनीकी स्वीकृति देने का काम लगभग पूरा कर लिया गया है। छठे पैकेा में जल्दी ही टेंडर की प्रक्रिया शुरू हो जायेगी। इसके साथ ही सभी डिवीजन के इइ को पांचवें फेा के काम में तेजी लाने का सख्त निर्देश दिया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सेंट्रल एजेंसी के जिम्मे होगा काम