अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फिर था आतंक का साया, कुत्ते ने बचाया

बीता बुधवार मुंबई के लिए काला साबित हुआ था क्योंकि 10 आतंकियों ने मुंबई को बंधक बना लिया था और कइयों की जान ले ली थी। लेकिन इस बुधवार को सीएसटी स्टेशन पर बम धमाके होने से स्नीफर डॉग ने बचा लिया। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री विलास राव देशमुख के दौर से ठीक पहले जब स्निफर डॉग को सीएसटी स्टेशन परिसर में घुमाया गया तो उसने उस बैग को ढूंढ लिया जिसमें आठ किलो आरडीएक्स के साथ एक टाइमर बम था। यह वही बैग है जिसे सीएसटी पर आए आतंकियों ने छोड़ दिया था। आतंकी कार्रवाई के बाद इस बैग को भी बिना जांच किए रलवे पुलिस ने उसी बैग के साथ रख दिया था जो आतंकी हमले में यात्रियों ने अपनी जान बचाने के लिए छोड़कर भाग गए थे। आतंकियों के इस बैग के मिलने और लापरवाही से बिना जांच किए इस बैग को यात्रियों के छुटे हुए बैग के रखने से यह सवाल उठ रहे हैं कि क्या सीएसटी पर आए दो आतंकियों के अलावा तीसरा आतंकी भी था जो अपनी जान बचाने के लिए यह बैग छोड़ कर भागा था।ड्ढr ड्ढr दूसरा सवाल यह है कि आतंकी हमलों में जान-माल का नुकसान होने के बावजूद किसी भी बैग की जांच किए बिना ही सीएसटी के एक कमर में रख दिया गया था। बुधवार को देशमुख भी बाल-बाल बचे। क्योंकि उनके सीएसटी पर आने से पहले स्नीफर डॉग से जांच कराई गई। ये बैग उसी तरह के हैं जो ओबेराय होटल, नरीमन हाउस और ताज होटल के पास पुलिस को टाइमर बम के साथ मिले थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: फिर था आतंक का साया, कुत्ते ने बचाया