अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चाल धंसने से पांच मजदूर मर

चरही थाना क्षेत्र अंतर्गत मांडू वन क्षेत्र के तापिन जंगल स्थित फूलबगान में चल रही कोयले की अवैध खदान की चाल धंसने से गुरुवार की शाम लगभग पांच बजे पांच मजदूरों की मौत हो गयी। समाचार लिखे जाने तक मजदूरों के शव खदान में ही दबे पड़े थे। चाल धंसने से कई मजदूर दबे थे, लेकिन वे किसी तरह जान बचाकर बाहर निकलने में सफल रहे। ग्रामीणों ने अब तक नागू रविदास और उसके साले के मरने की पुष्टि की है। दोनों के शवों के निकाल कर ग्रामीण साथ ले गये हैं। खदान में और कौन-कौन लोग दबे हैं, इसके बार में ग्रामीणों ने बताने से मना कर दिया। खदान से बच कर निकले ग्रामीणों ने तीन और लोगों के दबे होने की पुष्टि की है। वैसे दुर्घटना में जख्मी लोगों का इलाज तापिन और चरही के निजी चिकित्सकों से कराया गया है। घटना की जानकारी मिलने के बाद वन विभाग के फॉरस्टर और सिपाही मलबे में दबे मजदूरों के शवों को निकालने की कोशिश में जुटे थे। मालूम हो कि सीसीएल की तापिन परियोजना पदाधिकारी कई बार खदान को बंद कराने के लिए प्रशासनिक पदाधिकारियों को पत्र लिख चुके हैं। यह खदान तीन वर्षो से अवैध रूप से चलायी जा रही है। इस खदान में निकाले गये कोयले की कालाबाजारी में दर्जनों पिकअप वैन रो चलते हैं। खदान चलानेवालों के नाम बताने से ग्रामीण कतराते हैं। घटना के बाद खदान के आसपास कोई भी नजर नहीं आ रहा था। तापिन गांव में मातम का माहौल है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: चाल धंसने से पांच मजदूर मर