DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब तक तो तय है कि तमाड़ से ही लडूंगा

शिबू सोरन ने कहा कि जामताड़ा सीट पर अभी तकनीकी पेंचीदगियां हैं, हम पता कर रहे हैं। वैसे अबतक, यह निश्चित ही है कि हम तमाड़ से ही चुनाव लड़ेंगे। मुख्यमंत्री सोरन हिन्दुस्तान से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने यह भी बताया कि जामताड़ा के विधायक विष्णु भैया ने सीट खाली करने के लिये अपना इस्तीफा विधानसभा अध्यक्ष को सौंप दिया है। अब आगे चुनावी तकनीकी पेचीदगियों में जितना वक्त लगे। मुख्यमंत्री बने रहने के लिये शिबू को छह महीने के भीतर विधानसभा का सदस्य बनना होगा, तीन माह बीत चुके हैं।ड्ढr अपनी तीन माह की उपलब्धियों पर मुख्यमंत्री सोरन कहते हैं: खेते में बीज डालो तो उगने में भी तो तीन महीना लगता है। अभी पौधा हुआ है, देखियेगा पेड़ फल देगा। साथ ही उन्होंने कहा: मैं जानता हूं कि अल्प समय के लिये मैं मुख्यमंत्री बना हूं, और इसी में भरसक करके दिखाऊंगा। आप आश्वस्त रहें। शिबू ने कहा कि कृपि विकास उनकी प्राथमिकता है। माइनर इरिगेशन विभाग उसपर काम कर रहा है। राज्य में औद्योगीकरण की सुस्ती के लिये उन्होंने अंतराष्ट्रीय मंदी को दोष दिया। अबतक किये गये एमओयू के सवाल पर शिबु कहते हैं: जमीन उपलब्ध कराने की मैं गारंटी देता हूं, लेकिन नये एमओयू करनेवालों को पहले जमीन पर कुछ करके दिखाना होगा।ड्ढr साथ ही विस्थापितों का भविष्य सुनिश्चित कराना हमारी प्राथमिकता होगी। आदिम जनजातियों की मौत पर शिबु को जांच नतीजे का इंतजार है। उन्होंने कहा कि ऐसी घटनाएं दोबारा न हों इसके लिये उनकी जीवनशैली में परिवर्तन अनिवार्य है। सरकार ने उनके सालों भर भोजन और बिना शर्त नौकरी की घोषणा की है। दो मंत्रियों पर चल रही निगरानी जांच के सवाल पर सोरन ने कहा: हमने भी मुकदमों का सामना किया है, अब ये लोग खुद निबटें। उग्रवाद के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि एक रणनीति के तहत काम शुरू हो गया है, उपचुनाव को लेकर गति थोड़ी कम हो सकती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अब तक तो तय है कि तमाड़ से ही लडूंगा