अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आतंकियों ने तोड़ी साड़ी की कमर

मुंबई के आतंकवादी हमले और वैश्विक मंदी की महामार ने बनारसी साड़ी उद्योग का कमर तोड़ दिया है। खास-खास अवसरों पर और खास कर शादियों में महिलाओं के श्रृंगार व खूबसूरती को खास अंदाज देने वाली बनारसी साड़ियां अब उस तरह खूबसूरती को नहीं बढ़ा पाएगी। मुंबई में पिछले महीने हुए आतंकी हमले के चलते बनारसी साड़ी एवं फैब्रिक्स के व्यवसाय पर बुरा असर पडा है और इसका कारोबार घटकर लगभग आधा हो गया है। फैशन की नगरी मुम्बई में वाराणसी से प्रति माह लगभग 200 करोड रूपये मूल्य की साड़ी व फैब्रिक्स जाते हैं। मुंबई के आतंकी हमले ने मंदी से परेशान बनारसी साड़ी व फैब्रिक्स के व्यवसाय का कमर तोड़ दिया है। मुंबई में बनारसी फैंसी, इम्ब्राडरी, कैजुअल साड़ियों के साथ ही साथ ड्रेस मैटेरियल के रूप में बनारसी फैब्रिक्स की मांग अधिक है। वाराणसी वस्त्र उद्योग से जुड़े लोगों का मानना है कि मुंबई में आतंकी हमले का यहां के व्यवसाय पर प्रभाव तो पड़ा है, लेकिन यह स्थाई नहीं है। मांग कम होने से उत्पादन घटाना उनके लिए जरूरी हो गया है। उत्पादन कम होने से कई हथकरघे बन्द हो गए हैं और कारीगरों के सामने बेरोजगारी की समस्या उत्पन्न हो गई है। व्यापारियों का काफी पैसा भुगतान नहीं होने के कारण फंस गया है। वाराणसी में पर्यटकों की संख्या में हुई कमी के कारण भी बिक्री प्रभावित हुई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आतंकियों ने तोड़ी साड़ी की कमर