DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राजधानी में गूंजने लगे क्रिसमस के गीत

क्रिसमस पर्व की तैयारी में रविवार को राजधानी में कई स्थानों पर क्रिसमस मिलन समारोह का आयोजन किया गया। मसीही श्रद्धालुओुं ने सम्मिलित होकर ईसा मसीह के आगमन को स्मरण किया, पर्व की आत्मिक तैयारी की और क्रिसमस के गीत गाए। जीइएल चर्च हेडक्वार्टर कांग्रीगेशन की ओर से गोस्सनर स्कूल में क्रिसमस गैदरिंग का आयोजन किया हुआ। इस अवसर पर मोडरटर नेलसन लकड़ा ने कहा कि यीशु का जन्म परमेश्वर की महिमा, धरती की कुशलता और मनुष्यों की शांति के लिए हुआ। मौके पर हिंदी और सादरी क्रिसमस गीत प्रतियोगिता का आयोजन किया गया, जिसमें तीस टीमें शामिल हुईं। उड़ीसा के मसीहियों और मुंबई बम कांड के पड़ितों के लिए विशेष प्रार्थना की गई।कैरोल प्रतियोगिता के प्रतिभागियों ने पास आओ विश्वासियों, गोहार घर के चरनी ऊपर और चरनी ऊपर यीशु बालक ..सहित कई गीत पेश किए। हिंदी कैरोल में सिरमटोली साउथ, ब्लू वेव्स और फ्रेंड्स ग्रुप को क्रमश: पहला, दूसरा और तीसरा पुरस्कार मिला। सादरी गीतों में कडरू पुल टोली, बेथेसदा प्राइमरी टीचर्स ट्रेनिंग कॉलेज और पिलगरलेन बाल समाज की टीमों ने प्रथम तीन स्थान हासिल किए।प्रतिभागियों का मूल्यांकन सुधीर शॉ, शिशिर टुडू और मैक्लेन खलखो ने किया।इससे पूर्व रव्ह पारादीस सुरीन ने प्रारंभिक प्रार्थना की और बिशप सीडी जोजो ने अतिथियों का स्वागत किया। प्रभु दान कुल्लू, एस्थेर कुल्लू, जुनुल होरो और मोनरन तोपनो ने बाइबल से पाठ किया। मंच संचालन समीला खलखो और आश्रय एक्का द्वारा किया गया। समारोह में सिरिल लकड़ा, अटल खेस, रव्ह जॉनसन लकड़ा, रव्ह सीमांत तिर्की, रव्ह असफ टेटे, असीम तिर्की और काफी संख्या में श्रद्धालु उपस्थित थे। सुबक पड़े उड़ीसा के पास्टर : उड़ीसा से आए पास्टर आदम कुमार दिगल उड़ीसा के मसीहियों की पीड़ा सुनाते हुए मंच पर ही रो पड़े। उन्होंने कहा कि मसीहियों की मौत ईश्वर के गौरव के लिए होती है।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: राजधानी में गूंजने लगे क्रिसमस के गीत