DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पीडीके कार्यकर्ताओं ने सेना के हथियार लदे ट्रक लूटे

श्रीलंका के विद्रोही संगठन लिबरेशन टाइगर्स आफ तमिल ईलम (लिट्टे) समर्थक पार्टी पेरियार द्रविदार कषगम (पीडीके) के कार्यकर्ताआें ने शनिवार को तमिलनाडु के कोयंबटूर स्थित नीलमपुर बाईपास रोड़ पर सेना के पांच ट्रकों पर लदे हथियारों को लूट लिया। पुलिस सूत्रों ने बताया कि पीडीके के महासचिव के रामकृष्णन के नेतृत्व में पार्टी कार्यकर्ता को जब जानकारी हुई कि श्रीलंका में लिट्टे से लड़ने के लिए वहां की सेना के लिए हथियार और गोला बारूद बेंगलुरु से कोच्चि के रास्ते ले जाया जा रहा है तो उन्होंने हिंसा और आगजनी शुरू कर दी। पीडीके के सौ से अधिक कार्यकर्ता सड़क पर एकत्र हो गए और सेना के एक ट्रक को रोक लिया जिसमें सेना के जवान जा रहे थे। कार्यकर्ताआें ने सैनिकों के वाहन में तोड़फोड़ करने के बाद उन्हें वहां से भगा दिया। इसके बाद पीडीके कार्यकर्ताआें ने वहां से गुजर रहे सेना के चार और वाहनों को भी रोकर उसमें तोड़फोड़ मचाई और उसमें लदे हथियार, गोला बारूद और राकेट लांचरों को सड़कों पर फेंक दिया। पीडीके कार्यकर्ताआें ने सेना के जवानों पर हमले करने के बाद उनके सामानों को भी नुकसान पहुंचाया। इस घटना की जानकारी मिलने पर मदुक्करै शिविर से पहुंचे सेना के 30 जवानों के दल ने कार्यकर्ताआें को वहां से भगाया। सैनिकों और कार्यकर्ताआें के बीच इस दौरान हुई झड़प में 20 लोग घायल हो गए। बाद में पहुंची पुलिस ने घटनास्थन से रामकृष्णन और चार अन्य को गिरफ्तार कर लिया। वहीं सेना के अधिकारियों का कहना है कि कार्यकर्ताआें ने उस समय हमला किया जब वे बेंगलुरु में प्रशिक्षण प्राप्त कर मदुक्करै शिविर लौट रहे थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पीडीके कार्यकर्ताओं ने सेना के ट्रक लूटे