DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राजरंग

हाय र मंदी, तुमने मार डाला !शहर-बाजार में अभी जिसे बताइये, एके बात बोलेगा लोग- अर का कहियेगा, इ मंदी तो सबको मार दिया। जिसको सुनिये वही सिर्फ मंदी पर बतियायेगा। मंदी ने किसको मारा, कैसे मारा नय दिख रहा है। आतंकवादी, उग्रवादी लोग मार रहा है, उ तो पूरी दुनिया देख रही है। लेकिन इ मंदी कइसे मार रहा है, दिखिये नय रहा है। खैर इ तो इंटरनेशनल सबजेक्ट का प्रॉब्लम है। बड़े-बड़े विद्वान लोग इस पर डिसकस कर रहा है। इ आदमी को झारखंडे में सबसे अधिक मंदी दिखायी दे रही है। दिसंबर का महीना चल रहल है। इसको ट्रांसफर-पोस्टिंग का महीना कहा जाता है। लेकिन कहीं कोई सुन-गुन सुनाइये नहीं दे रहा है। यही उ महीना जब कय गो एक्िटव हो जाते हैं। सब तरफ लोग चुपचाप है। दस तारीख बीत गया। जल्दिये 20 और 30 तारीख बीत जायेगा। हमको तो लक्षण ठीक नय दिख रहा है। अभी ट्रांसफर-पोस्टिंग का मौसम लहलह करता। मंत्री, चमचा, बेलचा, दलाल-उलाल सबका चेहरा खिलल-खिलल रहता। रिार्व बैंक ऑफ इंडिया छाप की हरी-हरी पत्तियां चारों तरफ दिखे लगता। लेकिन पता नय इ सेक्टर में काहे मंदी छाल है। झारखंड में यही तो एगो इंडस्ट्री है, जो सालों भर प्रोडक्शन देती है। अब इस पर मंदी का असर पड़ गया तो बूझिये बहुते गड़बड़ बात है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: राजरंग