DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘वाणिज्य कर रत्न’ से सम्मानित होंगे व्यापारी

वाणिज्य कर विभाग ने आयकर दाताओं की भांति वाणिज्य कर के भी बड़े-बड़े करदाताओं को विभिन्न शर्तो के अधीन ‘भामाशाह सम्मान योजना’ के अन्तर्गत प्रतिवर्ष सम्मानित करने का निर्णय लिया है। इसके अन्तर्गत राज्य के कॉरपोरट एवं नन कॉरपोरट वर्ग के 10 सबसे अधिक कर देने वाले व्यवसायियों को ‘वाणिज्य कर रत्न’ से सम्मानित किया जाएगा।ड्ढr साथ ही, असंगठित वर्ग के ऐसे सभी व्यापारी जिन्होंने पिछले तीन वर्षो से कर का भुगतान औसतन 25 प्रतिशत की वृद्धि दर से किया हो या फिर उस अवधि के दौरान जिनका कोई भी वित्तीय वर्ष की वृद्धि दर 20 प्रतिशत से कम नहीं हो सम्मानित होंगे।ड्ढr ड्ढr इस समूह से 10 सर्वाधिक कर भुगतान करने वाले व्यवसायियों को सम्मानित किया जाएगा। इसके अलावा संगठित क्षेत्र के वैसे व्यापारी जो एक करोड़ रुपए से अधिक कर का भुगतान करते हैं एवं विछले तीन वर्षो से कर का भुगतान औसतन 20 प्रतिशत से अधिक अथवा आलोच्य अवधि में 30 प्रतिशत से अधिक कर भुगतान में वृद्धि दर प्राप्त किया है, सम्मानित किए जाएंगे। साथ ही, प्रत्येक अंचल में पांच सर्वाधिक कर भुगतान करने वाले करदाता जिन्होंने पिछले तीन वर्षो में किसी वर्ष ऋणात्मक वृद्धि दर प्रतिवेदित नहीं किया हो, वे भी सम्मानित होंगे। इस संबंध में वाणिज्य कर विभाग ने आदेश जारी कर दिया है। जो व्यापारी पिछले दो वर्षो में विवरणी दाखिल करने या कर भुगतान करने में बिना अनुमति प्राप्त किए देर से जमा किया हो ऐसे व्यापारियों को सम्मानित नहीं किया जाएगा। इसके अलावा ऐसे व्यापारी जिन्हें पिछले तीन वर्षो में कर की चोरी के लिए दंडित नहीं किया गया हो एवं किसी अपीलीय न्यायालय द्वारा उसे निरस्त नहीं किया गया हो। साथ ही ऐसे व्यापारी जिनके व्यवसाय स्थल का पिछले 3 वर्षो में निरीक्षण किया गया हो एवं उसके विरुद्ध कर चोरी के साक्ष्य प्राप्त हुए हों, उन्हें भी सम्मानित नहीं किया जाएगा।ंं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ‘वाणिज्य कर रत्न’ से सम्मानित होंगे व्यापारी