अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पटना का चेहरा तीन साल में अलग दिखेगा

अगले तीन सालों में अलग दिखेगा पटना का चेहरा। हिन्दुस्तान के मंच यह दावा और वायदा किया है पटना नगर निगम के मेयर संजय कुमार और डिप्टी मेयर संतोष मेहता ने। ये दोनों शनिवार को पुस्तक मेले में हिन्दुस्तान के मंच पर ‘आमने-सामने’ कार्यक्रम में पुस्तक प्रेमियों से मुखतिब थे, जिसका विषय था पटना मेट्रो प्लान। इस मौके पर राजधानी की जनता को आश्वस्त करते हुए नगर निगम के मेयर ने कहा कि इस साल लोगों को जल जमाव से मुक्ित मिल जाएगी। उन्होंने कहा कि राजधानी में लोगों को बेहतर नागरिक सुविधा उपलब्ध कराने के लिए नगर निगम अपनी ओर से पूरा प्रयास कर रहा है। जबकि डिप्टी मेयर ने कहा कि मेट्रो प्लान के लागू होने के बाद राजधानी का अलग स्वरूप दिखेगा। उन्होंने स्वीकार किया राजधानी का एक बड़े इलाके में तंग गलियों के कारण विकास और सफाई कार्यो में काफी परशानी होती है। एक सवाल के जबाव में मेयर ने कहा कि जल्द ही मुख्यमंत्री शहरी विकास योजना के तहत राजधानी के पार्को और घाटों का सौंदर्यीकरण किया जाएगा। डिप्टी मेयर ने बताया कि मेट्रो प्लान लागू होने के बाद वेंडर की समस्या का काफी हद तक समाधान हो जाएगा। इस प्लान में वेडरों के लिए अलग स्थान चिन्हित किया गया है। उन्होंने कहा कि गारबेज सेंटर के शुरू हो जाने के बाद राजधानी की कूड़ा की समस्या का समाधान हो जाएगा और कूड़े का बेहतर इस्तेमाल किया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि जल्द ही राजधानी के स्कूल-कालेज और अस्पतालों के पास पसर कूड़े को वहां से हटाया जाएगा। डिप्टी मेयर ने कहा कि राजधानी की बहुचर्चित और बहुप्रतीक्षित मेरिन ड्राइव परियोजना पर सरकार ने पहल शुरू की है। इस मौके पर वार्ड पार्षद दीपक चौरसिया और प्रमोद गुप्ता भी मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन अवधेश प्रीत और अरुण कुमार ने किया।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पटना का चेहरा तीन साल में अलग दिखेगा