अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अफसर का एचआरए कर्मचारी के वेतन से चयादा!

छठे वेतनमान की सिफारिशों में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी को मात्र 650 रुपए वेतन मिलेगाोबकि बैण्ड-4 के अधिकारी का आवासीय भत्ता ही 00 रुपए है! अधिकारी व कर्मचारी के बीच छठे वेतनमान की ऐसी ही सिफारिशों से बढ़ी खाई से नाखुश कर्मचारी संगठन अगले सप्ताह से आंदोलन आरंभ करंगे। सबसे पहले विधान भवन के सामने 16 दिसम्बर को उत्तर प्रदेश राय कर्मचारी महासंघ (पांडे गुट) प्रदर्शन करगा। इसके ठीक दूसर दिन 17 दिसम्बर को उत्तर प्रदेश राय कर्मचारी महासंघ (आय गुट) प्रदर्शन करगा। 18 दिसम्बर को राय कर्मचारी संयुक्त परिषद (पांडे गुट) प्रदर्शन करगा। 18 दिसम्बर को ही उप्र रााकीय निर्माण निगम के वर्कचरा कर्मचारी निगम मुख्यालय पर प्रदर्शन करंगे। 2दिसम्बर को राय कर्मचारी संयुक्त परिषद (यादव गुट) प्रदर्शन करगा। यही गुट सिफारिशों में संशोधन न होने पर अगले साल 10 फरवरी को प्रदर्शन करगा।ड्ढr रविवार को उत्तर प्रदेश राय कर्मचारी महासंघ के एक गुट के प्रदेश अध्यक्ष सतीश कुमार पाण्डे, महामंत्री रामराा दुबे व सुरन्द्र कुमार श्रीवास्तव ने संयुक्त पत्रकारवार्ता में दावा किया कि उनके संगठन के आह्वान पर 75 विभागों के प्रदेश भर के कर्मचारी 16 को प्रदर्शन में शामिल होंगे। उन्होंने सरकार पर आरोप लगाया कि उसने कर्मचारी संगठनों की राय को दरकिनार कर एसएटी रिावी कमेटी को सिफारिशों को लागू किया। उत्तर प्रदेश चतुर्थ श्रेणी राय कर्मचारी महासंघ के अध्यक्ष रामराा दुबे ने बताया कि चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी को कम वेतनमान देने के साथ ही केन्द्रीय कर्मियों के समान तीन श्रेणी के शहरों के कर्मचारियों को एचआरए, नगर प्रतिकर भत्ता, शिशु आहार भत्ता समेत अन्य भत्ते देने में भी ोदभाव किया गया। कर्मचारी इसका सरकार से 16 दिसम्बर को हिसाब माँगेंगे।ड्ढr रविवार को ही दारुलशफा के बी-ब्लाक के कामन हाल में राय कर्मचारी संयुक्त परिषद की अमरनाथ यादव व बीएल कुशवाहा की अध्यक्षता में बैठक हुई। बैठक में कर्मचारियों ने सर्वसम्मति से छठे वेतनमान की सिफारिशों में ोदभाव करने के लिए सरकार की आलोचना की। उन्होंने परिवहन निगम, स्थानीय निकाय, स्वशासी संस्थाएँ, पंचायतों, विकास प्राधिकरणों व कार्य प्रभारित कर्मचारियों के वेतन भत्ते भी निर्धारित करने की माँग की। उन्होंने सरकार से सात सूत्री माँग-पत्र में ग्रेड वेतनमान देने की सरकार की सिफारिश को खारिा करते हुए 8,16 व 24 साल की सेवा पर तीन पदोन्नत वेतनमान देने की अपील की। ऐसा न हुआ तो 2दिसम्बर को विधान भवन के सामने प्रदर्शन, अगले साल के पहले ही दिन से लेकर 14ोनवरी तक ब्लाक, तहसील व अन्य कार्यालयों पर गेट मीटिंग, 15ोनवरी को कलेक्ट्रेट पर रैली कर मुख्यमंत्री को डीएम के माध्यम से ज्ञापन, तीन फरवरी को कलेक्ट्रेट पर मशालोुलूस और दस फरवरी को रााधानी में रैली करंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अफसर का एचआरए कर्मचारी के वेतन से चयादा!