अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रैगिंग पर संवेदनशील बने विश्वविद्यालय : प्रतिभा

राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल ने रैगिंग की बढ़ती घटनाओं पर चिंता जताते हुए हिमाचल प्रदेश में आठ मार्च को मौत का शिकार हुए अमन काचरू के अभिभावकों को आश्वस्त किया कि पूरे देश के विश्वविद्यालयों को रैगिंग कानूनों के प्रति संवेदनशील होना होगा। राष्ट्रपति भवन में विशेष डय़ूटी पर तैनात अधिकारी अर्चना दत्ता ने कहा कि राष्ट्रपति ने अमन के पिता राजेंद्र काचरू को आश्वस्त करते हुए कहा कि वह सभी राज्यपालों को, जो अपने राज्यों में स्थित विश्वविद्यालयों के कुलाधिपति होते हैं, इस बुराई के प्रति संवेदनशील होने के लिए पत्र लिखेंगी। राष्ट्रपति पाटिल ने 14 अप्रैल को पूरे देश में उच्च शिक्षा संस्थानों में बढ़ती रैगिंग की घटनाओं पर चिंता जताई थी। उन्होंने छात्रों विशेषकर वरिष्ठों को कनिष्ठ छात्रों से व्यवहार में अधिक जिम्मेदारी बरतने की सलाह दी। उन्होंने राज्य सरकारों, विश्वविद्यालयों और कालेजों के अधिकारियों को सतर्क रहने और उपद्रवियों के खिलाफ कड़ी कर्रवाई के साथ ही परिसरों में हिंसा रोकने के लिए विशेष उपाय करने को कहा। उल्लेखनीय है कि केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री अजरुन सिंह ने कहा था कि परिसरों में हिंसा रोकने के लिए सरकार एक कानून लाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: रैगिंग पर संवेदनशील बने विश्वविद्यालय : प्रतिभा