DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्कूलों में इंफ्रास्ट्रक्चर का अभाव

डिप्टी सीएम स्टीफन मरांडी ने कहा कि झारखंड के स्कूलों में पर्याप्त इंफ्रास्ट्रक्चर का अभाव है। अब वक्त आ गया कि नये सिर से इसकी प्लानिंग की जाये, ताकि शिक्षा का एक बेहतर माहौल बने। स्टीफन होटल अशोका में आयोजित यूनिसेफ और देशकाल सोसाइटी की नेटवर्क बिल्डिंग ऑन क्लासरूम विषयक कार्यशाला में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे। कहा कि हाल के दिनों में सरकारी स्कूलों में एसटी-एसटी विद्यार्थियों की उपस्थिति बढ़ी है, लेकिन अच्छे शिक्षक और स्कूली भवन नहीं रहने से वे स्कूल छोड़ देते हैं। इसके पूर्व कार्यक्रम का उद्घाटन डिप्टी सीएम स्टीफन मरांडी ने किया। सेमिनार में देशकाल के संजय कुमार ने कहा कि आज यह महत्वपूर्ण है कि हम लगातार जांच करं कि स्कूली शिक्षा को लेकर सरकारी प्रयासों को किस हद तक लागू किया गया है। इसके लिए आम लोगों को जागरूक करना होगा। सेमिनार को पीसी उरांव, पीके झा, मणि त्रिपाठी व अन्य ने संबोधित किया। वेबसाइट लांच की, देंगे टिप्सरांची। जेवीएम श्यामली के पासआउट छात्रों ने एक नयी शुरुआत की है। ये सभी पासआउट देश के नामी संस्थानों में उच्च पदों पर कार्यरत हैं। अब ये अपने अनुभव, सफलता के गुर स्कूल के विद्यार्थियों से बांटेंगे। सोमवार को जेवीएम श्यामली में पासआउट स्प्रिट कंटीन्यूअस संस्था के कार्यक्रम में जुटे थे। अवसर पर एक वेबसाइट भी लांच की गयी। इसके माध्यम से स्कूल के छात्रों को मार्गदर्शन देने का काम किया जायेगा। अवसर पर पासआउट बीआइटी मेसरा के पवन कुमार गुप्ता, आइआइटी दिल्ली के श्वेताभ पाठक ने छात्रों को टिप्स दिया। मौके पर विद्यालय के प्राचार्य डीआर सिंह, एसके घोष समेत अन्य उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: स्कूलों में इंफ्रास्ट्रक्चर का अभाव