अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिजली बोर्ड के बंटवार का पुरचचाोर विरोध

विद्युत कनीय अभियंता संघ का छठा वार्षिक महाधिवेशन 15 दिसंबर को संपन्न हो गया। महाधिवेशन के मुख्य अतिथि व झारखंड बिजली बोर्ड के मेंबर सेक्रेटरी (वितरण) एसएन चौधरी ने कहा कि बोर्ड में विकास के साथ-साथ राज्य में बिजली आपूर्ति की स्थिति में काफी सुधार हुआ है। राजधानी में विगत तीन महीने से बिजली की आपूर्ति नियमित है। उन्होंने सभी अभियंताओं को विकास में सहयोग के लिए बधाई का पात्र बताया। श्री चौधरी ने संघ द्वारा प्रकाशित स्मारिका का विमोचन किया।ड्ढr इससे पूर्व राज्य के विभिन्न जिलों से आये अभियंताओं ने विचार रखे। अभियंताओं ने बोर्ड के बंटवार का पुराोर विरोध किया है। ऑल इंडिया इंजीनियर एसोसिएशन ने भी कनीय अभियंता संघ को सहयोग करने का आश्वासन दिया है।ड्ढr महाधिवेशन में नये सत्र के लिए चुनाव भी कराया गया, जिसमें इस बार फिर प्रवीण कुमार को महासचिव और इंद्रदेव यादव को अध्यक्ष चुन लिया गया। सुदामा राय को एडिशनल जेनरल सेक्रेटरी, उमेश प्रसाद वित्त सचिव, जेपी पंडित सचिव, उदयशंकर केसरी सचिव-1, ललितेश सिंह-सचिव-2 और रामचंद्र ठाकुर को सचिव सिविल के लिए चुना गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बिजली बोर्ड के बंटवार का पुरचचाोर विरोध