DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विदेशों में नौकरी अब ‘दूर की कौड़ी’ नहीं

बिहारी छात्रों के लिए विदेशों में नौकरी अब ‘दूर की कौड़ी’ नहीं रही। राज्य सरकार ने इसके लिए ‘समुद्रपार नियोजन ब्यूरो’ की स्थापना का फैसला लिया है। साथ ही अधिक पैसा कमाने के लिएबाहर जाने वाले कामगारों के लिए ‘प्रस्थान पूर्व प्रशिक्षण कार्यक्रम’ पर काम शुरू है।ड्ढr ड्ढr बेरोगारों को ऑनलाइन निबंधन की सुविधा देने में तो राज्य सरकार केन्द्र से भी दो कदम आगे ही चल रही है। राज्य सरकार ने दस जिलों और तीन विश्वविद्यालयों में कैरियर इन्फॉरमेशन केन्द्र खोला है। केन्द्र ने ऑनलाइन निबंधन कराने वाले युवकों को तीस दिन के भीतर सर्टिफिकेट जमा करने का प्रावधान किया है। लेकिन राज्य सरकार की सोच है कि युवकों को इस भाग-दौड़ से भी मुक्ित मिल जाये।ड्ढr ड्ढr इसके लिए सरकार एक पैकेा बनाने जा रही है जिसमें स्कैन किये हुए सर्टिफिकेट सरकार को ऑनलाइन मिल सके। श्रम संसाधन मंत्री अवधेश नारायण सिंह ने बताया कि उन जिलों में कैरियर इन्फॉरमेशन केन्द्र बनाये गये हैं जहां पहले से नियोजनालय नहीं थे। लेकिन पहले के नियोजनालयों को भी नई सुविधाओं से लैस करने का काम चल रहा है। यहां भी कैरियर इन्फॉरमेशन केन्द्र की तरह कम्प्यूटर, इन्टरनेट और फोटो कापियर की सुविधा रहेगी। जहां नये केन्द्र खोले गये हैं उनमें कैमूर, जमुई, लखीसराय, बांका, शिवहर, किशनगंज, शेखपुरा, सुपौल, अरवल और अररिया जिलों के अलावा जयप्रकाश विश्वविद्यालय छपरा, वीर कुंअर सिंह विश्वविद्यालय आरा, और बी पी मंडल विश्वविद्यालय मधेपुरा शामिल हैं। मंत्री ने बताया कि ‘समुद्रपार नियोजन ब्यूरो’ की स्थापना बेरोगारों को बिचौलियों से बचाने के लिए किया जा रहा है। इससे विदेश भोजने के नाम पर ठगी करने वालों पर अंकुश लगाया जा सकेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: विदेशों में नौकरी अब ‘दूर की कौड़ी’ नहीं