DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

झारखंड में होनेवाले राष्ट्रीय खेलकूद की तैयारी

झारखंड में होनेवाले राष्ट्रीय खेलकूद की तैयारी को लेकर खेलकूद एवं संस्कृति विभाग के लिए सरकार ने बजट में 200 करोड़ 24 लाख रुपये का प्रावधान किया है। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य के लिए भी 44 करोड़ 51 लाख की व्यवस्था की गयी है। अनुसूचित जाति, जनजाति एवं पिछड़ा वर्ग कल्याण के लिए 15रोड़ 38 लाख 72 हाार रुपये का प्रावधान किया गया है। प्रमुख विभागों के लिए किये गये प्रावधान।ड्ढr निर्वाचन - पांच करोड़ 47 लाख 62 हाारड्ढr सचिवालय सेवाएं - एक करोड़ 86 लाखड्ढr पुलिस - 77 करोड़ लाख हाारड्ढr ोल - पांच करोड़ चार लाखड्ढr लोक निर्माण विभाग -आठ करोड़ 31 लाख 13 हाारड्ढr आवास -17 करोड़ 50 लाखड्ढr सूचना एवं प्रसार- छह करोड़ 71 लाख 38 हाारड्ढr अन्य प्रशासनिक सेवा- दो करोड़ छह लाख 17 हाारड्ढr खेलकूद एवं युवा सेवाएं- 200 करोड़ 24 लाख हाारड्ढr चिकित्सा एवं स्वास्थ्य - 44 करोड़ पांच लाख 1हाारड्ढr अनुसूचित जाति, जनजाति एवं पिछड़ा वर्गो का कल्याण-15रोड़ 38 लाख 72 हाारड्ढr श्रम एवं रोगार - चार करोड़ 76 लाखड्ढr पर्यटन- पांच करोडड़्ढr फसल कृषि कार्य - 64 करोड़ 55 लाख 72 हाारड्ढr डेयरी विकास -13 करोड़ 71 लाखड्ढr मछली पालन- छह करोड़ 44 लाखड्ढr वानिकी एवं वन विभाग -28 करोड़ 62 लाखड्ढr ग्राम रोगार -14 करोड़ 4लाख 0 हाारड्ढr उद्योग- 14 करोड़ 84 लाख 41 हाारड्ढr सिविल पूर्ति-50 करोड़ 66 लाखड्ढr शिक्षा खेलकूद -115 करोडड़्ढr शहरी विकास - 30 करोडड़्ढr पुलिस पूंजीगत परिव्यय- 1रोड़ 50 हाारड्ढr अनुसूचित जाति, जनजाति एवं पिछड़ा वर्ग कल्याण -31 करोड़।विधानसभा का शीत सत्र शुरूरांची। झारखंड विधानसभा का शीत सत्र बुधवार को शुरू हुआ। विधानसभा अध्यक्ष आलमगीर आलम के प्रारंभिक भाषण के साथ सदन की कार्यवाही पूर्वाह्न 11 बजे शुरू हुई। स्पीकर ने सदस्यों का स्वागत करते हुए कहा कि यह सत्र संक्षिप्त है। इसमें कुल पांच कार्य दिवस निर्धारित हैं। इस सत्र में सरकार द्वारा अपना अनुपूरक बजट सभा में प्रस्तुत किया जायेगा, जिस पर चर्चा के क्रम में सभी सदस्यों को सरकार के कार्य-कलापों के मूल्यांकन का अवसर मिलेगा।ड्ढr अध्यक्ष ने कहा कि विधानसभा ने अपनी स्थापना के आठ सालों के सफर को बीती अवधि में ही पूरा किया है। इस अवसर पर आयोजित समारोह में महामहिम राज्यपाल ने उत्कृष्ट विधायक सम्मान से इंदरसिंह नामधारी को सम्मानित किया। उन्हें सम्मान पाने के लिए सदन की ओर से बधाई देता हूं तथा अन्य माननीय सदस्यों से भी आग्रह करता हूं कि सभा के जिन सदस्यों को अब तक इस सम्मान से नवाजा जा चुका है, उनके पदचिह्नों पर चलकर आप भी इस सम्मान को प्राप्त करने में कामयाब हो सकें। वहीं सदन को संसदीय लोकतंत्र की सर्वोच्च बुलंदियों तक पहुंचायें। ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: झारखंड में होनेवाले राष्ट्रीय खेलकूद की तैयारी