DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्लट वॉक के जरिए मनचलों को संदेश, हद में रहो

स्लट वॉक के जरिए मनचलों को संदेश, हद में रहो

राजधानी दिल्ली में रविवार को यौन हिस्सा के खिलाफ स्लट वाकॅ का आयोजन किया गया, जिसमें प्रदर्शनकारियों ने अपने हाथों में बड़े-बड़े बैनर ले रखे थे, जिन पर लिखा था कि आप मुझे मेरे कपड़ों के कारण नहीं घूरते हैं बल्कि इसलिए कि मैं एक औरत हूं।

विभिन्न आयु वर्ग से जुड़े लोगों ने इस प्रदर्शन में भाग लिया और स्लट वॉक के बैनर तले जंतर-मंतर तक प्रदर्शन किया। ये प्रदर्शनकारी महिलाओं के साथ होने वाले बलात्कार या यौन उत्पीड़न को उनके कपड़े पहनने के सलीके से जोड़े जाने का विरोध कर रहे थे।

यह प्रदर्शन कड़ी सुरक्षा के बीच आयोजित किया गया, लेकिन दुनिया के अन्य हिस्सों के विपरीत यहां महिला प्रदर्शनकारियों ने भड़काउ कपड़े नहीं पहन रखे थे।  स्लट वॉक की आयोजक मिशिका सिंह ने कहा कि इस स्लट वॉक का मकसद लैंगिक समानता, लैंगिक पुरातनपंथी सोच तथा पीड़ित को आरोपित करने के मुद्दे को उठाना था।

दिल्ली से 35 किलोमीटर दूर मानेसर से इस प्रदर्शन में भाग लेने आई गृहिणी निष्ठा ने कहा कि मैं यहां इसलिए आयी हूं ताकि मेरी बेटी को भविष्य में इस प्रकार के प्रदर्शनों में शामिल नहीं होना पड़े। यदि आज हमने विरोध नहीं किया तो भविष्य में उन्हें इसी प्रकार की हिंसा, दुर्व्यवहार और भेदभाव का सामना करना पड़ेगा।

उन्होंने कहा कि समस्या समाज की मानसिकता में है। महिलाओं के प्रति उनके दोहरे मापदंड हैं। केवल लड़कियों को सलीके से पहनने ओढ़ने की नसीहत दी जाती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:स्लट वॉक के जरिए मनचलों को संदेश, हद में रहो