अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वाजपेयी के नाम पर दर्ज हैं दो अटल कीर्तिमान

चुनाव जीतने और हारने को लेकर कई कीर्तिमान देश के विभिन्न राजनेताओं के नाम पर दर्ज हैं लेकिन भारतीय राजनीति के सदाबहार नायक अटल बिहारी वाजपेयी के नाम दो ऐसे कीर्तिमान दर्ज हैं, जिनका टूटना नामुमकिन तो नहीं, पर मुश्किल जरूर है। वाजपेयी देश के एक मात्र ऐसे राजनेता हैं, जो चार राज्यों के छह लोकसभा क्षेत्रों की नुमाइंदगी कर चुके हैं। उत्तर प्रदेश के लखनऊ और बलरामपुर, गुजरात के गांधीनगर, मध्यप्रदेश के ग्वालियर और विदिशा तथा दिी के नई दिी संसदीय क्षेत्र से चुनाव जीतने काड्ढr कीर्तिमान वाजपेयी के ही नाम है। वाजपेयी के नाम दूसरा कीर्तिमान तो काफी दिलचस्प है। वाजपेयी वर्ष 1में पहली बार चुनाव लड़ेथे। तब उन्होंने उत्तर प्रदेश के तीन संसदीय क्षेत्रों लखनऊ, बलरामपुर और मथुरा से चुनाव लड़ा था। बलरामपुर से तो जीतकर वह लोकसभा में पहुंच गए थे, पर लखनऊ और मथुरा में उन्हें हार का मुंह देखना पड़ा था। मथुरा में तो उनकी जमानत भी नहीं बच पाई थी। सन 1में पांचवें आम चुनाव में वह मध्य प्रदेश के ग्वालियर संसदीय क्षेत्र से चुने गए। आपातकाल के बाद हुए 1और फिर 10 के मध्यावधि चुनाव में उन्होंने नई दिी संसदीय क्षेत्र का प्रतिनिधित्व किया। 1े आम चुनाव में वह लखनऊ और विदिशा से चुनाव लड़े और दोनों ही जगह से जीते। बाद में उन्होंने विदिशा सीट खाली कर दी। 1में हवाला कांड में अपना नाम आने के कारण लालकृष्ण आडवाणी ने चुनाव नहीं लड़ा और उनके गांधीनगर निर्वाचन क्षेत्र के साथ ही लखनऊ से भी वाजपेयी ने ही चुनाव लड़ा और दोनों ही जगहों से जीते भी। 1और 1े चुनाव उन्होंने लखनऊ से ही लड़े और जीते। 1से लेकर 1तक के बीच वाजपेयी सिर्फ 1और 1में हुए लोकसभा चुनाव ही हारे। 1और 1में तो वह राज्यसभा के माध्यम से संसद में पहुंचे, जबकि 1में लोकसभा का उपचुनाव जीतकर संसद में पहुंचे थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: वाजपेयी के नाम पर दर्ज हैं दो अटल कीर्तिमान