DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाकिस्तान में जेल से चल रहा टेरर नेटवर्क

पाकिस्तान मुंबई में आतंकवादी हमलों को लेकर भले ही अपना पल्ला झाड़ता रहे, लेकिन वहां आतंकवादियों के हौसले इस कदर बुलंद है कि उन्हें जेल से भी अपना टेरर नेटवर्क चलाने में कोई दिक्कत नहीं है। यह बात कोई और नहीं खुद पाकिस्तानी अधिकारी मानते हैं जिनका कहना है कि अमेरिकी पत्रकार डेनियल पर्ल की हत्या के आरोप में सजा काट रहा आतंकी सरगना जेल से ही अपना नेटवर्क चला रहा था। यही नहीं उसने पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ को आत्मघाती कार बम धमाके में मार डालने की धमकी तक दी थी। द न्यूज में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक सिंध के हैदराबाद में केंद्रीय जेल के अंदर से टेरर नेटवर्क चल रहा था। यहां बड़ी संख्या में मोबाइल फोन और सिमकार्ड बरामद होने के बाद प्रांतीय सरकार ने शीर्ष पुलिस व जेल अधिकारियों को निलंबित कर दिया है। गृह मंत्रालय से जुड़े सूत्रों के मुताबिक यह सारा नेटवर्क पर्ल की हत्या के मामले में जेल में बंद अहमद उमर सईद शेख चला रहा था। शेख उन आतंकियों में शामिल है जिन्हें भारत ने 1में कंधार विमान अपहरण कांड के दौरान जश प्रमुख मौलाना मसूद अजहर के साथ छोड़ा था। शेख ने नवंबर के दूसर हफ्ते में पूर्व राष्ट्रपति मुशर्रफ को उनके निजी मोबाइल फोन पर कॉल करके धमकी दी थी। इस कॉल में मुशर्रफ से कहा गया था, मुझसे बचकर कहां जाओगे। मरने के लिए तैयार हो जाओ। बाद में जांच के दौरान पता चला कि यह कॉल हैदराबाद जेल से हुई थी। फिर शेख की हरकतों पर निगरानी के दौरान पाया गया कि इसके पीछे उसका ही हाथ था। शेख इस काम के लिए लश्कर झांगवी के साथ संपर्क में था। यही नहीं आतंकवादी मुशर्रफ की गतिविधियों पर लगातार नजर भी रखे हुए थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पाकिस्तान में जेल से चल रहा टेरर नेटवर्क