अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कठिन ट्रेनिंग के लिए अयोग्य हैं

सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने प्रशिक्षण के लिए भेजे गये झारखंड पुलिस के 150 जवानों को वापस कर दिया है। टेकनपुर स्थित बीएसएफ के प्रशिक्षण कैंप में इन जवानों को नक्सलियों के विरुद्ध अभियान चलाने के लिए कठिन प्रशिक्षण दिया जाना था।ड्ढr टेकनपुर में बीएसएफ के आलाधिकारियों ने जब इन जवानों की चिकित्सीय जांच की तो, इन्हें इसके लिए अनफिट करार दिया। साथ ही यह टिप्पणी भी की गयी कि ये जवान कठिन प्रशिक्षण के योग्य नहीं हैं। इतना ही नहीं, इनकी उम्र भी अधिक बतायी गयी है। झारखंड पुलिस के ये जवान हाल ही में इंडिया रिजर्व बटालियन (1) में नियुक्त किये गये हैं। नियुक्ित के बाद इन्हें प्रशिक्षण के लिए भेजा गया था। आइजी प्रशिक्षण को टेकनपुर से 18 दिसंबर को पत्र मिला है। आइजी प्रशिक्षण ने इसकी सूचना राज्य के आलाधिकारियों को दे दी है। साथ ही पत्र की प्रति आइआरबी के समादेष्टा को भी भेजी गयी है। वापस भेजे गये कुछ जवानड्ढr रवींद्र सिंह, कन्हैया पांडेय, सुनील राय, लखन महतो, रामकिशुन एक्का, सखीलाल मिर्धा, रामनरश मंडल, अक्षय झा, सुरंद्र सिंह, सूरज साव, अनिल यादव, हूबलाल प्रसाद, संतोष सिंह, अशोक यादव, सतन उरांव, वाहिद अंसारी, मो शकील अख्तर, सुरेंद्र कुमार, विमोचन सिंह, विनोद यादव, सुनील सिंह, पंकज मिश्र, प्रम कुमार।दुबारा जांच करने का निर्देशड्ढr इस बीच आइआरबी के समादेष्टा ने असैनिक शल्य चिकित्सक सह मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी (चाईबासा) को पत्र लिखकर अनुरोध किया है कि सभी जवानों की नये सिर से चिकित्सीय जांच की जाये। साथ ही यह बताया जाये कि ये जवान पुलिस में रहने योग्य हैं या नहीं। इनकी वास्तविक उम्र क्या है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कठिन ट्रेनिंग के लिए अयोग्य हैं