अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तमाम प्रयासों के बावजूद तेल का गिरना जारी

च्चे तेल के दाम पर लगाम लगाने के तेल उत्पादक देशों के प्रयासों के बावजूद इसमें जारी मंदी थमने का नाम नहीं ले रही है और तेल के दाम 36 डॉलर प्रति बैरल के स्तर पर पहुंच गया है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में इस सप्ताह कच्चे तेल के दाम में 20 प्रतिशत से अधिक की गिरावट दर्ज की जा चुकी है। बृहस्पतिवार यानी तेल उत्पादक देशों के संगठन ओपेक की तेल के दाम नियंत्रित करने के लिए अल्जीरिया में हुई बैठक के एक दिन बाद तेल के दाम चार साल के रिकार्ड निचले स्तर पर आए हैं। जुलाई में रिकार्ड 147 डॉलर से अधिक पहुंचने के बाद अब तेल के दाम 110 डॉलर से अधिक गिरकर 36 डॉलर के आसपास पहुंच गया है। वर्ष 2003 के बाद तेल के दाम एक सप्ताह में सबसे ज्यादा गिरने के स्तर पर आ गए हैं। अमेरिका में कच्चा तेल 58 सेंट गिरकर 36.80 प्रति बैरल पर बोला गया। बृहस्पतिवार को यह 35.डॉलर प्रति बैरल पर था। लंदन बेंट्र क्रूड में फरवरी की डिलीवरी 44 सेंट ऊंची रही और यह 43.80 डॉलर पर बोला गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: तमाम प्रयासों के बावजूद तेल का गिरना जारी