DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अंतुले का समर्थन नहीं किया मुस्लिम सांसदों ने

मुंबई में आतंकी हमले के दौरान तीन दिनों तक फिल्म अभिनेत्री शबाना आजमी को यह डर सताता रहा कि कहीं इसकी प्रतिक्रिया में देश के मुसलमानों पर कहर न बरपा दिया जाए। वे शुक्रवार को ‘आतंकवाद के विरुद्ध मुस्लिमों की पहल’ विषय पर आयोजित संगोष्ठी में बोल रही थीं। उन्होंने कहा कि मुंबई घटना के बाद वे बेहद डरा हुआ महसूस कर रही थीं। लेकिन मीडिया की पहल ने लोगों की सोच को सही दिशा दी और देश में आतंकवाद के विरुद्ध माहौल बनाया जिससे मुस्लिम समुदाय भी आगे आया। शबाना ने कहा कि मुस्लिम धार्मिक नेताओं ने मार गए आतंकियों को कब्रिस्तान में जगह देने से इंकार कर पाकिस्तान को मुंह तोड़ जवाब दिया। इस मौके पर शबाना ने केन्द्रीय मंत्री अब्दुल रहमान अंतुले द्वारा हेमंत करकर की हत्या को लेकर सवालिया निशान लगाने की भी निंदा की। उन्होंने कहा कि अंतुले देश के मुसलमानों का प्रतिनिधित्व नहीं करते। गोष्ठी में सर्वसम्मत प्रस्ताव पारित कर कहा गया कि भारतीय समाज का हिस्सा होने के नाते मुसलमान आतंकवाद के विरोध में समाज की अन्य बिरादरियों के साथ आगे भी एकाुट रहेंगे। प्रस्ताव में आतंकवाद को इस्लाम से जोड़नेवालों की निंदा की गई और कहा गया कि इस्लाम आतंकवाद के खिलाफ है।ड्ढr सांसद अबनी राय ने कहा कि संसद में सभी दलों ने एकाुट होकर आतंकवाद के विरुद्ध एकाुटता दिखाई है और यह सभी बिरादरियों में भी दिखनी चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अंतुले का समर्थन नहीं किया मुस्लिम सांसदों ने