DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भ्रष्ट अफसरों की संपत्ति जब्त होगी:नीतीश

याय के साथ होगा पिछड़े बिहार का विकास और जब्त की जाएगी भ्रष्टाचार में फंसे अधिकारी एवं लोक सेवकों की आय से अधिक अर्जित सम्पत्ति। क्योंकि विकास राशि के बंदरबांट को सरकार अब बर्दाश्त नहीं करगी। ये बातें बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जिले के राजनगर स्थित उच्च विद्यालय के मैदान में आयोजित जिला जदयू अत्यंत पिछड़ा महासम्मेलन के उद्घाटन के मौके पर शनिवार को एक महती जनसभा को सम्बोधित करते हुए कही। वहीं खजौली प्रखंड के सुक्की गांव में कमला सायफन सह एकपथीय सेतु का लोकार्पण मुख्मयंत्री नीतीश कुमार ने किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार के विकास के प्रति सरकार संकल्पित है। सरकार मानती है कि बिहार का विकास तब होगा जब सूबे के सभी वर्गो एवं सभी क्षेत्रों का समान विकास होगा। उन्होंने कहा कि पंचायतों में आरक्षण समाज के पिछड़े तबके एवं आधी आबादी को निर्णय में भागीदारी देने का प्रयास है। महादलित के उत्थान की योजना की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि यह समाज को बांटने का कार्य नहीं है, अपितु समाज के दबे-कुचले को मुख्यधारा में लाकर जोड़ने का प्रयास है। उन्होंने पिछली सरकार पर कटाक्ष करते हुए कहा कि समाज तोड़ने का काम पहले वाले कर रहे थे। विकास की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि जिस राज्य में विकास की राशि खर्च नहीं होती थी, उसी राज्य में पिछले साल 10 हाार करोड़ की राशि खर्च हुई है। इस वर्ष 13.5 हाार करोड़ विकास राशि खर्च होगी। लेकिन राशि की बंदरबांट करने वाले बख्शे नहीं जायेंगे। सरकार कानून लाकर भ्रष्टाचार में फंसे लोगों की आय से अधिक सम्पत्ति जब्त करगी तथा भ्रष्टाचारियों को पकड़वाने वाले नागरिकों को पुरस्कार देगी। मुख्यमंत्री ने अत्यंत पिछड़ा विकास की योजनाओं की चर्चा करते हुए कहा कि सरकार प्रत्येक जिला मुख्यालयों में कपरूरी ठाकुर छात्रावास की स्थापना करगी। मधुबनी पहला जिला है जहां छात्रावास की जमीन मिल गयी है। वे शीघ्र कार्यारंभ करायेंगे। शिक्षा में विकास की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि 2 लाख शिक्षकों की बहाली एवं 15 हाार नये स्कूल खोलकर 15 लाख वंचित बच्चों को स्कूल तक पहुंचाया है। शेष 10 लाख बच्चों को स्कूल तक पहुंचाने के लिए सरकार तालीमी मरकत एवं उत्थान केन्द्रों की स्थापना करगी। सभा को सिंचाई मंत्री विजेन्द्र प्रसाद यादव, पंचायती राज एवं पिछड़ा कल्याण मंत्री हरि प्रसाद साह, विधि व सूचना जनसम्पर्क मंत्री रामनाथ ठाकुर, सांसद अली अनवर एवं महेन्द्र सहनी, विधान पार्षद विरन्द्र कुमार चौधरी एवं गणेश भारती, विधायक कपिलदेव कामत एवं रामदेव महतो तथा मदरसा बोर्ड के अध्यक्ष डा. एजाज अहमद ने भी सम्बोधित किया। जदयू के वरिष्ठ नेता प्रो. विनोद सिंह ने मुख्यमंत्री को मिथिला पेंटिंग भेंट की। अध्यक्षता जद यू अत्यंत पिछड़ा प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष चन्द्रेश्वर चन्द्रवंशी ने की। जबकि मंच संचालन जिला अध्यक्ष उपेन्द्र सहनी ने किया।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: भ्रष्ट अफसरों की संपत्ति जब्त होगी:नीतीश