अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

श्याम-रंचाू को छोड़ा था पुलिस ने

दो उग्रवादियों को राजनीतिक दबाव में छोड़ने का मामला तूल पकड़ रहा। चौतरफा घिरी सरकार को कोई जवाब सूझ नहीं रहा। शनिवार को इस मुद्दे पर सदन को भी गुमराह किया गया। विपक्ष के हंगामे के बाद सरकार की ओर से जवाब दे रहे संसदीय कार्य मंत्री स्टीफन मरांडी ने जिन तीन लोगों को पकड़ने और फिर छोड़ने की बात कही है, वे बेशक निर्दोष रहे होंगे। पर, यह मामला अलग है। हिन्दुस्तान इनकी बात कहां कर रहा। दरअसल, दबाव में जिन्हें छोड़ा गया, उनके नाम हैं श्याम पाहन और रंजू सिंह मुंडा। ये दोनों 16 दिसंबर को पूजा-अर्चना करते देवड़ी मंदिर से पकड़े गये थे। दोनों न सिर्फ खूंखार इनामी उग्रवादी कुंदन पाहन के दाहिने हाथ हैं, बल्कि तमाड़ इलाके में हाल के महीनों में हुई हर बड़ी घटना में ये शामिल रहे हैं। चाहे वह आइसीआइसीआइ बैंक के पांच करोड़ रुपये लूटने का मामला हो या फिर बंडू के डीएसपी को बारूदी विस्फोट में उड़ा देने का। पुलिस को इनकी लंबे समय से तलाश है। सूत्रों के अनुसार श्याम पाहन कुंदन का भाई है। कुंदन के इशार पर इसने ही बुंडू के डीएसपी प्रमोद कुमार सहित तीन जवानों को उड़ा दिया था। उस वक्त जांच में इसका खुलासा भी हुआ था कि धमाका केवल एक नक्सली ने किया था। तमाड़ थाना में उसके विरुद्ध मुकदमा भी दर्ज है। श्याम पर बैंक के पांच करोड़ की लूट में शामिल होने का भी आरोप है। इसके अलावा जदयू विधायक रमेश मुंडा की हत्या में अहम् भूमिका निभाने और बाद में उस इलाके में पोस्टर चिपकाने का भी आरोप है। श्याम अड़की थाना क्षेत्र के बारीगड़ा गांव का रहने वाला है। अड़की का ही रंजू मुंडा दूसरा नक्सली था, जो पुलिस के हत्थे चढ़ा था। रंजू पुलिस फाइल में ऊपर चल रहा है। नक्सली कांड में यह पहले भी जेल जा चुका है। इस मुद्दे पर पुलिस के कुछ आलाधिकारियों से बात की गयी तो उनका कहना था कि यह तो एक मामले का खुलासा हुआ है। इस तरह का दबाव तो झारखंड पुलिस को अमूमन हर दिन झेलना पड़ता है। इसी इलाके में कुछ दिन पहले तमाड़ के एक पारा शिक्षक गंगाधर मुंडा को भी दबाव के बाद छोड़ना पड़ा। बढ़ते राजनीतिक दबाव से ईमानदार पुलिस अफसरों का काम करना दुरुह होता जा रहा।ड्ढr सरकार को सही जवाब देना ही होगा: अजरुन मुंडाड्ढr इस बीच नेता प्रतिपक्ष अजरुन मुंडा ने कहा कि स्टीफन मरांडी ने गलतबयानी कर सदन को गुमराह किया है। मामला बहुत ही गंभीर है। सरकार को सही जवाब देना ही होगा। राजग इस मुद्दे को छोड़ेगा नहीं। सोमवार को सदन में यह मामला फिर उठाया जायेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: श्याम-रंचाू को छोड़ा था पुलिस ने