DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डॉ अमरश्वर के मामले में विस गरम

आयुष डॉक्टरों की नियुक्ित के मामले में नियुक्ित समिति के अध्यक्ष डॉ अमरश्वर प्रसाद के मामले को लेकर विधानसभा गरम रही। पक्ष-विपक्ष के सदस्यों के बीच कई बार तीखी नोक-झोंक हुई। कभी विपक्ष, तो कभी सत्ता पक्ष के सदस्य वेल में पहुंचे। हंगामे के कारण स्पीकर को सदन की कार्यवाही आधे घंटे तक स्थगित करनी पड़ी। कार्यवाही जब दोबारा शुरू हुई, तो यह मामला फिर उठा। स्वास्थ्य मंत्री भानु प्रताप शाही ने सरकार का पक्ष रखा। लेकिन प्रश्नकर्ता इंदर सिंह नामधारी और जदयू के राधाकृष्ण किशोर समेत पूर विपक्ष ने मंत्री के जवाब पर असंतोष जताया। किशोर मामले की जांच विधानसभा की कमेटी से कराने की मांग कर रहे थे। स्पीकर आलमगीर आलम ने मामले को विधानसभा की प्रश्न एवं ध्यानाकर्षण समिति को सौंप दी। नामधारी ने सवाल उठाया कि आयुष डॉक्टरों की नियुक्ित समिति के अध्यक्ष डॉ अमरश्वर प्रसाद पर कई गंभीर आरोप हैं। उनके खिलाफ डोरंडा थाना में धारा 410, 467 और 467 के तहत मामला दर्ज है। इस कांड के जांचकर्ता पुलिस अफसर रवींद्र प्रसाद सिंह ने एसएसपी को लिखा है कि उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हो पा रही है। क्योंकि जब इस संबंध में बार-बार आग्रह के बावजूद पूर्व स्वास्थ्य सचिव सियाराम प्रसाद सिन्हा और वर्तमान सचिव डॉ प्रदीप से संचिका नहीं मिल पा रही है। इस पर स्वास्थ्य मंत्री भानू प्रताप शाही ने कहा कि इनके खिलाफ हाईकोर्ट ने फैसला दे दिया है। उसी के आलोक में उन्हें पदावनत करने संबंधी आदेश को निरस्त किया गया है। इस पर नामधारी ने फाइल पर मंत्री की टिप्पणी और विभाग के तत्कालीन अपर सचिव निधि खर की टिप्पणी का हवाला दिया। निधि खर ने डॉ अमरश्वर प्रसाद के खिलाफ प्रतिकूल टिप्पणी दी है। नामधारी ने कहा कि सरकार स्पष्ट कर कि इस आरोपी व्यक्ित को नियुक्ित समिति का अध्यक्ष क्यों बनाया गया है? इस व्यक्ित पर एक ही केस नहीं है। गोड्डा में भी केस हुआ है। आखिर झारखंड में ये क्या हो रहा है? मैं इसका पर्दाफाश करना चाहता हूं।ड्ढr इस पर मंत्री उत्तेजित हो गये और कहा- क्या पर्दाफाश करना चाहते हैं। आप बहुत विद्वान हैं, तो क्या दिखाना चाहते हैं। मंत्री की प्रतिक्रिया पर विपक्षी सदस्य जोर-ाोर से बोलते हुए वेल में पहुंच गये। इसी बीच नामधारी ने कह दिया कि आप मंत्री हैं, आपको अंग्रेजी आती है तो हाइकोर्ट के आदेश में क्या लिखा है, पढ़ लीजिये। इस पर सत्ता पक्ष के कई लोग उत्तेजित हो गये। सदन हंगामे में डूबा रहा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: डॉ अमरश्वर के मामले में विस गरम