अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नहीं चलेगी लीपापोती : अमेरिका

पाकिस्तान को एक सख्त संदेश देते हुए अमेरिका ने कहा है कि मुंबई हमले के बाद अपनी जमीन से आतंकवाद का खात्मा करने के लिए पाक ने जो कुछ किया उससे अमेरिका संतुष्ट नहीं है। उसने यह भी कहा कि यह कोई साधारण हमला नहीं था, जिसकी ‘लीपापोती कर दी जाए।’ यह संदेश अमेरिका के शीर्ष अधिकारी ने पाकिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार महमूद अली दुर्रानी को दिया। मुंबई हमलों के वक्त और उसके बाद पाकिस्तान ने जसी हां-ना वाली बयानबाजियां की हैं उनसे नाखुश अमेरिका ने दुर्रानी को वाशिंगटन तलब किया था। दुर्रानी की तीन दिवसीय अघोषित यात्रा शनिवार को खत्म हुई। इस दौरान उन्होंने अमेरिका की विदेश मंत्री कोंडोलीजा राइस, सुरक्षा सलाहकार स्फीन हेडली और पेंटागन के अधिकारियों से मुलाकात की। पाकिस्तान के अखबार डॉन के मुताबिक राइस ने बेहद सख्त लहो में दुर्रानी से कहा, ‘आपको आतंकवाद की समस्या से निपटना होगा और इतना कहना भर काफी नहीं है कि इसमें नॉन-स्टेट एकटर्स शामिल हैं। अगर वह पाकिस्तान से अपनी गतिविधियों का संचालन कर रहे हैं तो सरकार को उन्हें रोकना होगा।’ बातचीत से जुड़े एक सूत्र ने बताया कि दुर्रानी सहित पाकिस्तान से गए दल को अमेरिका ने कड़ा संदेश देते हुए कहा,‘यह वर्ष 2002 नहीं है और आप वो नहीं कर सकते जो े बाद मुशर्रफ ने किया। पहले आपने सभी मामलों पर लीपापोती कर दी और समस्याओं को बढ़ने दिया, अब ऐसा नहीं चलेगा।’ इससे पहले भी राइस ने विदेश परिषद के समक्ष अपने भाषण में कहा था कि मुंबई हमलों के लिए जिम्मेदार लोगों को पकड़ने के लिए पाकिस्तान ने जो कुछ किया है वह काफी नहीं है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नहीं चलेगी लीपापोती : अमेरिका