अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाक चाहता है तालिबान कामयाब हो

पिछले सात साल से अमेरिका के साथ मिल कर ‘वॉर ऑन टेरर’ के नाम पर तालिबान और अल कायदा के साथ लड़ रही पाकिस्तानी सेना क्या वास्तव में तालिबान को हराने के लिए गंभीर है या फिर इस लड़ाई में अमेरिका का साथ देने का दिखावा कर पाकिस्तान अपने किसी और एजेंडे को साध रही है। पकिस्तान एक ओर अफगानिस्तान से लगी अपनी पश्चिमी सीमा पर अमेरिका का साथ देने के एवज में अरबों डालर की मदद और हथियारों के तोहफे ले रहा है, दूसरी ओर लड़ाई का हश्र यह है कि अब तालिबान पेशावर पर कभी भी कब्जा करने का दावा कर रहा है। जानकारों के मुताबिक तालिबान के साथ युद्ध का दिखावा कर रहा पाकिस्तान मन से चाहता है कि तालिबान इस लड़ाई में जीत जाए और पूरा अफगानिस्तान न सही, अफगानिस्तान के बड़े भूभाग पर अपना शासन स्थापित कर ले ताकि भारत के साथ युद्ध के समय उसे सामरिक गहराई यानी स्ट्रेटेािक डेफ्त मिल सके। इस समय कश्मीर से ईरान तक फैले पाकिस्तान की चौड़ाई इतनी कम है कि भारत की कोई भी मिसाइल उसके किसी भी भाग को लक्ष्य बना सकती है। पहले हुई लड़ाइयों में भी पाकिस्तान को अपने विमान और सामरिक साजो सामान ईरान और अफगानिस्तान में ही छुपाने पड़े थे। वैसे भी पाकिस्तान पहले से ही पाक-अफगान सीमा रखा डुरंड लाइन को मानने से इनकार करता रहा है। हाल ही में एक गोष्ठी में पूर्व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ब्रजेश मिश्र ने कहा कि अमेरिका की मजबूरी है कि यह जानते हुए भी कि पाकिस्तान दोगली चाल चल रहा है, उसके खिलाफ कार्रवाई करने से बच रहा है क्योंकि अफगानिस्तान में कार्रवाई के लिए उसे पाकिस्तान की जमीन चाहिए। पाकिस्तान भी अमेरिका की इस मजबूरी को समझ रहा है वर्ना सात साल की लड़ाई में उसे कोई कामयाबी क्यों नहीं मिली? अमेरिका कुछ नाराज होता है तो पाकिस्तान पश्चिमी सीमा से सेना हटा भारतीय सीमा पर लाने की धमकी दे देता है। यदि पाकिस्तान अपनी एक लाख फौा पश्चिमी सीमा से हटा ले तो अमेरिका का वॉर ऑन टेरर कमजोर पड़ता है। रक्षा विशेषज्ञ मे.जनरल अफसीर करीम का कहना है कि पाकिस्तान का यह खेल लंबे समय तक नहीं चलेगा। ओबामा अमेरिका की सत्ता संभालने के बाद अफगनिस्तान पर विशेष ध्यान देने वाले हैं। एक स्थिति एसी होगी जब भारत और अमेरिका को मिल कर तालिबान और पाकिस्तान के खिलाफ कार्रवाई करनी पड़ सकती है। भारत सरकार को चाहिए कि वह अमेरिका के साथ तालमेल बैठाते हुए इस स्थिति का पूरा लाभ उठाए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पाक चाहता है तालिबान कामयाब हो