DA Image
1 जून, 2020|2:40|IST

अगली स्टोरी

BSNL निजी कंपनियों को पट्टे पर देगी कारखाने

BSNL निजी कंपनियों को पट्टे पर देगी कारखाने

सरकारी दूरसंचार कंपनी भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) घाटा कम करने और आमदनी का नया जरिया निकालने के लिए उपकरण आदि बनाने वाले अपने कारखानों को चलाने के लिए निजी कंपनियों के साथ समझौते करने का विचार कर रही है। कंपनी के कुल सात कारखाने हैं पर उनकी हालत भी ठीक नहीं है।

बीएसएनएल के एक सूत्र ने बताया, हम खस्ताहालात में चल रही अपनी सात दूरसंचार विनिर्माण इकाईयों के पुनरोद्धार के लिए निजी दूरसंचार कंपनियों के साथ गठबंधन की संभावनायें तलाश रहे हैं। ये कारखाने जबलपुर, रिछाई, भिलाई, कोलकाता, गोपालपुर, खड़गपुर और मुंबई में हैं। इनमें सिम कार्ड, टेलीकॉम टावर, खंबे, मॉडम, पे-फोन और अन्य सहायक साजोसामान का विनिर्माण किया जाता है।

बीएसएनएल को वित्तवर्ष 2009-10 में 32,046 करोड़ रुपए की आय और 1,823 करोड़ रुपए का घाटा हुआ था। कंपनी को मार्च 2011 में समाप्त वित्तवर्ष के दौरान भी घाटा होने का अनुमान है। इससे पहले 2005-06 में कंपनी को 10,000 करोड़ रुपए का शुद्ध मुनाफा हुआ था।

मोबाइल ग्राहकों के मामले में बीएसएनएल कुछ साल पहले तक दूसरे स्थान पर थी लेकिन भारती, वोडाफोन, आइडिया और टाटा जैसी कंपनियों से कड़ी प्रतिस्पर्धा के चलते यह खिसककर पांचवें स्थान पर चली गई है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:BSNL निजी कंपनियों को पट्टे पर देगी कारखाने