अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नेपाल में राजनीतिक बवंडर

नपाल के सना प्रमुख जनरल रूकमंग कटवाल का सरकारी आदश का कथित तौर पर पालन नहीं करन के चलत प्रधानमंत्री प्रचंड के द्वारा बर्खास्त कर दन और उनके जनरल के पद छाड़न स इनकार के बाद दश मं माआवादी नीत सरकार और सना के बीच टकराव के हालात पैदा हा गय हैं। एक ओर जनरल कटवाल ने बर्खास्तगी से संबंधित पत्र यह कहकर स्वीकार करने से मना कर दिया कि सरकार का यह निर्णय पूरी तरह से असंवैधानिक है और नेपाली सेना को यह पूरी तरह अस्वीकार्य है। जनरल न एक आपातकालीन बैठक के लिय अपन शीर्ष कमांडरां को भी बुलाया है। दूसरी ओर बर्खास्तगी के विरोध में सत्ताधारी गठबंधन की एक प्रमुख सहयागी सीपीएन (यूएमएल) न प्रचंड सरकार स समर्थन वापस लन का फैसला किया है। सरकार के इस फैसले के विराध मं नेपाली कांग्रेस और उसकी सहयोगी पार्टियों ने भी रविवार को प्रदर्शन किया।ड्ढr प्रधानमंत्री के प्रस सलाहकार आम शर्मा न कहा कि लफ्टिनंट जनरल कुल बहादुर खड॥का का नया सैन्य प्रमुख नियुक्त किया गया है। वहीं राष्ट्रपति डॉ. रामबरन यादव न भी प्रधानमंत्री प्रचंड के फैसले का स्वीकार करन स इंकार करत हुए कहा है कि प्रधानमंत्री संवैधानिक प्रावधानां का पालन करं और 61 वर्षीय सना प्रमुख का हटान का फैसला करन स पहल अन्य राजनीतिक दलां की सहमति हासिल कर लं। (एजेंसियां)

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नेपाल में राजनीतिक बवंडर