अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पुलिस ने दिखाया अब अपना रंग

पहली जनवरी को चिड़ियाखाना में सुरक्षा व्यवस्था को लेकर चिड़ियाखाना प्रशासन व पुलिस आमने -सामने हो गई है। एक माह पूर्व आर्म्स के साथ सचिवालय थानाध्यक्ष के प्रवेश पर बवाल मचाने वाले चिड़ियाखाना के निदेशक राकेश कुमार ने नववर्ष के दिन सुरक्षा बलों की तैनाती की मांग की है। इस बाबत उन्होंने जिलाधिकरी जितेन्द्र कुमार सिन्हा व सचिवालय थानाध्यक्ष नरश कुमार शर्मा को पत्र लिखा है। उधर सचिवालय थानाध्यक्ष नरश कुमार का कहना है कि सुरक्षाकर्मियों को आर्म्स के साथ उद्यान में प्रवेश पर निदेशक ने ही मना कर दिया था।ड्ढr ड्ढr इसको लेकर 22 नवंबर को उद्यान के दो नंबर गेट पर घंटेभर हंगामा चला था। पुलिसकर्मी व उद्यानकर्मियों के बीच तनातनी हो गई थी। नरश कुमार कहते हैं कि चिड़ियाखाना प्रशासन ने हथियार के साथ वहां जाने पर पाबंदी लगा दी है तो सुरक्षा कर्मी वहां कैसे जाएंगे। आखिर वे आर्म्स किसके हवाले करंगे तथा इसका जिम्मेवार कौन होगा।ड्ढr पुलिस को हथियार के बिना वहां जाना कही से भी जायज नहीं है। पुलिस इस बात को लेकर असमंजस में है कि आखिर वे करं तो क्या करं। इधर एसएसपी अमित कुमार ने बताया कि पुलिस यूनीफार्म में उनका हथियार भी शामिल है। बिना हथियार के पुलिस कहीं भी नहीं जाएगी। वैसे एसएसपी ने इस मामले को सलटा लेने का भरोसा दिलाया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पुलिस ने दिखाया अब अपना रंग