अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संस्कृत शिक्षकों ने जनता दरबार में किया हो-हल्ला

संस्कृत शिक्षकों ने शिक्षक नियुक्ित में गड़बड़ी का आरोप लगाकर जनता दरबार में हो-हल्ला किया। दो दिनों में इस समस्या का निदान निकालने के आश्वासन के बाद ही वे शांत हुए। शास्त्री डिग्रीधारियों के खिलाफ षडयंत्र का आरोप लगाते हुए संस्कृत चेतना परिषद का प्रतिनिधिमंडल बागीश चन्द्र झा के नेतृत्व में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मिला ।ड्ढr ड्ढr उन्होंने कहा कि किसी स्नातक के साथ अंग्रजी की अनिवार्यता नहीं होने के बावजूद शास्त्री डिग्रीधारियों के लिए ऐसा ही किया गया है। शास्त्री में ऐच्छिक पत्र हिन्दी, इतिहास, अर्थशास्त्र, राजनीतिक शास्त्र, अंग्रजी, भूगोल आदि है। इसमें कोई एक विषय लेना है। फिर अंग्रजी अनिवार्य क्यों? मुख्यमंत्री ने शिक्षामंत्री व शिक्षा सचिव को मामला देखने का निर्देश दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: संस्कृत शिक्षकों ने जनता दरबार में किया हो-हल्ला