DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कोसी को लाइन पर लाने की तैयारी तेज

ोसी नदी को मूल धारा में लौटाने के लिए दोनों ‘कॉफर डैम’ इस माह के अंत तक बनकर तैयार हो जाएंगे। कुसहा तटबंध की मरम्मत की कसरत में जुटी राज्य सरकार ने यह दावा किया है। इस समय कुसहा में इंजीनियर युद्धस्तर पर निर्माण कार्य में जुटे हुए हैं। पायलट चैनल का निर्माण सफलतापूवर्क पूरा करने से उत्साहित इंजीनियरों ने 30 दिसम्बर तक दोनों कॉफर डैम बना लेने का भरोसा जल संसाधन विभाग को दिलाया है। पायलट चैनल बन जाने के बाद कोसी की भटकी धारा पर ब्रक लगा है और वह पुराने रास्ते से बहने लगी है। हालांकि अब भी भटकी कोसी की एक धारा बाढ़ प्रभावित क्षेत्र होकर ही बह रही है। पायलट चैनल और कॉफर डैम के बाद पूरी नदी पुराने रास्ते पर पहुंच जाएग़ी। तटबंध मरम्मत की कसरत के पूर्व तीन कॉफर डैम बनाने हैं। एक का निर्माण एक पखवाड़ा पूर्व ही पूरा हो चुका है। जल संसाधन मंत्री बिजेन्द्र प्रसाद यादव खुद निर्माण कार्य का जायजा ले चुके हैं। उन्होंने निर्धारित समय पर काम पूरा करने का निर्देश दिया है।ड्ढr पायलट चैनल बनाने के बाद वहां लगातार ड्रजर चलाने से कोसी की धारा अपने पूर्व के रास्ते पर बढ़ने लगी है। उधर 1.2 किलोमीटर में टूटे तटबंध को बांधने की कसरत भी जारी है। मार्च के अंत तक तटबंध मरम्मत का काम पूरा हो जाएगा। इसके बाद कोसी अपनी मूल धारा होकर बहने लगेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कोसी को लाइन पर लाने की तैयारी तेज