अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘माया’ के नाम पर मार डाला

बीएसपी विधायक शेखर तिवारी और उनके गुर्गो ने पीडब्ल्यूडी के अधिशासी अभियंता मनोज गुप्ता की औरैया जिले में मंगलवार को आधी रात के बाद पीट-पीटकर हत्या कर दी। इस सिलसिले में विधायक समेत चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। गुप्ता के परिानों का कहना है कि तिवारी मुख्यमंत्री मायावती के जन्मदिन पर तोहफे के लिए उनसे पचास लाख रुपए की मांग कर रहे थे। उन्होंने यह भी कहा था कि गुप्ता औरैया छोड़कर वीआरएस लेना चाहते थे। राज्य के डीाीपी विक्रम सिंह और एडीाी कानून व्यवस्था बृजलाल ने बताया कि अभियंता की पत्नी शशि के मुताबिक, रात डेढ़ से दो बजे के बीच वह लोग दरवाजा तोड़कर भीतर आ गए। इसके बाद उन लोगों ने गुप्ता को तकरीबन घंटेभर पीटा। फिर यह लोग उन्हें लेकर कहीं चले गए। उधर रात तीन बजकर पांच मिनट पर थाने की जीडी में पुलिस ने दर्ज किया है कि विधायक शेखर तिवारी, पूती, विनय तिवारी और मनोज अवस्थी एक व्यक्ित को थाने में डाल गए कि इसकी डॉक्टरी कराकर जेल भेज दो। वहां से उन्हें स्वास्थ्य केन्द्र ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। पुलिस की इस कहानी के उलट स्व.गुप्ता के चाचा एस.पी.गुप्ता, अन्य घर वालों से कुछ और जानकारियां मिलीं। मसलन सुरक्षाकर्मियों ने रात में ही थाने पर फोन करके बताया था कि इांीनियर गुप्ता को उनके घर में कुछ लोग पीट रहे हैं पर थाने वालों ने कोई कार्रवाई नहीं की। इस तरह एसपी गुप्ता ने बताया कि उनके भतीजे ने घर वालों को बताया था कि अस्पतालकर्मियों के मुताबिक पुलिस वाले अभियंता की लाश लाए थे और उसे छोड़कर भाग गए।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ‘माया’ के नाम पर मार डाला