DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शेयर बाजारों में गिरावट का सिलसिला जारी

ंपनियों के तीसरी तिमाही के परिणामों की चिंता में देश के शेयर बाजारों में शुक्रवार को लगातार चौथे कारोबारी दिवस में तीव्र गिरावट देखी गई। बीएसई के सैंसेक्स को 240 अंक तथा एनएसई के निफ्टी को 60 अंक का और झटका लगा। बाजार सूत्रों का कहना है कि कंपनियों ने अग्रिम कर की जो राशि जमा कराई है, उसमें भारी गिरावट है। कर की कम राशि जमा होने से यह आशंका बनी है कि कंपनियों के चालू वित्त वर्ष के तीसरी तिमाही के परिणाम खराब आ सकते हैं। अमेरिकी अर्थव्यवस्था की कमजोर स्थिति से सूचना प्रौद्योगकी वर्ग की तीनों बड़ी कंपनियों के शेयरों में खासी गिरावट देखी गई। हालांकि कारोबार की शुरुआत मजबूती के साथ थी और अपराह्न तक बाजार अच्छा नजर आ रहा था, किंतु बाद में बिकवाली के दबाव से स्थिति बदल गई। सैंसेक्स शुरु में बुधवार के अंक की तुलना में अंक पर मजबूत खुला और ऊपर 06.38 अंक तक चढ़ने के बाद इसके मुकाबले करीब चार सौ अंक नीचे अंक तक लुढ़का और समाप्ति पर मामूली सुधरने के बावजूद कुल 230 अंक अर्थात 2.51 प्रतिशत के नुकसान से अंक रह गया। एनएसई के निफ्टी की चाल भी सैंसेक्स जैसी रही। शुरु में पहले के 2अंक की तुलना में 2अंक पर मजबूत खुलने के बाद निफ्टी चढ़ता हुआ 20.अंक तक गया और फिर इसके मुकाबले 100 अंक से अधिक लुढ़ककर नीचे 2844.80 अंक तक गिरा और समाप्ति पर कुल 50 अंक अर्थात 2.04 प्रतिशत के नुकसान से 2857.25 अंक पर बंद हुआ। बीएसई के अन्य सूचकांकों में मिडकैप और स्मालकैप में क्रमश 1.24 तथा 1.43 प्रतिशत का नुकसान हुआ। दूसरे वगर्ों में केवल हैल्थकेयर में आधा प्रतिशत की तेजी आई, जबकि अन्य सभी श्रेणियों के सूचकांक नुकसान में रहे। सर्वाधिक गिरावट आईटी सूचकांक में 3.प्रतिशत रही। रियलटी 3.82 प्रतिशत टूटा। एनएसई के मिडकैप में 1.28 प्रतिशत और जूनियर में 1.7प्रतिशत का नुकसान हुआ। एशिया के बाजारों में जापान का निक्केई 1.6 प्रतिशत और चीन का शंघाई कम्पोजिट 0.05 प्रतिशत नीचा रहा। बीएसई में कुल 2531 कंपनियों के शेयरों में कामकाज हुआ। इसमें से 62.82 प्रतिशत अर्थात 150 कंपनियों के शेयर लुढ़के, जबकि 34.37 प्रतिशत अर्थात 870 में फायदा रहा। मात्र 71 कंपनियों के शेयर टिके रहे। सैंसेक्स की तीस कंपनियों में 25 के शेयर घाटे और पांच के शेयर फायदे में रहे। सैंसेक्स में सर्वाधिक नुकसान रिलायंस इन्फ्रा के शेयर में 6.10 प्रतिशत अर्थात 35.25 रुपए की गिरावट रही। कंपनी का शेयर 542.30 रुपए रह गया। रियलटी वर्ग की अग्रणी डीएलएफ का शेयर 5.प्रतिशत अर्थात 17.55 रुपए के नुकसान से 276.40 रुपए रह गया। आईटी वर्ग की दूसरी बड़ी इन्फोसिस टेकनोलोजीस का शेयर 5.33 प्रतिशत अथवा 62.45 रुपए के नुकसान से 110पए पर बंद हुआ। इसवर्ग की अग्रणी टीसीएस के शेयर में 1.24 प्रतिशत की गिरावट रही। आईसीआईसीआई बैंक, महिन्द्रा ऐंड महिन्द्रा, हिंडाल्को इंडस्ट्रीज, जयप्रकाश एसोसिएट्स, आेएनजीसी, भेल, एसबीआई, स्टरलाईट इंडस्ट्रीज, टाटा स्टील, एलऐंडटी, टाटा मोटर्स, रिलायंस इंडस्ट्रीज, विप्रो, हिन्दुस्तान यूनीलीवर, एसीसी और एचडीएफसी बैंक सैंसेक्स के नुकसान वाली पहली बीस कंपनियों के शेयर थे। लाभ वाली श्रेणी में ग्रासिम इंडस्ट्रीज के शेयर में 1.6प्रतिशत की तेजी आई। कंपनी का शेयर 20 रुपए बढ़कर 1205 रुपए पर बंद हुआ। मारुति सुजूकी, रैनबैक्सी लैब, टाटा पावर और सत्यम कंप्यूटर सैंसेक्स के अन्य फायदे वाले शेयर रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: शेयर बाजारों में गिरावट का सिलसिला जारी