DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ेगावस्कर और सोबर्स के नजदीक पहुंचे गंभीर

दुनिया के टॉप टेन बल्लेबाजों में शुमार हो जाने वाले बाएं हाथ के आेपनर गौतम गंभीर हाल के अपने लाजवाब प्रदर्शन की बदौलत सुनील गावस्कर और गैरी सोबर्स जैसे महान खिलाड़ियों के नजदीक पहुंच गए हैं। वर्ष 2008 में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले गंभीर ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के खिलाफ पिछली दो शंृखलाआें में अपनी लगातार बेहतरीन बल्लेबाजी से दो महीने के अंदर 27 स्थानों की छलांग लगाकर आईसीसी टेस्ट बल्लेबाजी रैंकिंग में दसवें नंबर के बल्लेबाज बन गए हैं। गंभीर का पिछले पांच मैचों में गजब का प्रदर्शन रहा है। इस दौरान उन्होंने 82.40 के बेहद प्रभावशाली औसत से 824 रन बनाए हैं और वह लगातार पांच टेस्टों में गावस्कर का 831 रन का भारतीय रिकार्ड तोड़ने से मामूली अंतर से चूक गए। लेकिन उन्होंने लगातार पांच टेस्टों में वेस्टइंडीज के महान बल्लेबाज सोबर्स के 824 रन बनाने की उपलब्धि के बराबर पहुंच गए। 27 वर्षीय गंभीर ने पिछले पांच टेस्टों में एक दोहरा शतक , दो शतक और तीन अर्धशतक बनाए हैं। वह अपने कैरिअर में अबतक 22 मैचों में 4े औसत से 1826 रन बना चुके हैं, जिनमें चार शतक और नौ अर्धशतक शामिल है। वर्ष 2008 में गंभीर ने आठ मैचों की 16 पारियों में 70.87 के औसत से 1134 रन बनाए हैं, जिनमें तीन शतक और छह अर्धशतक शामिल हैं। इस वर्ष वह जितनी बार भी मैदान में उतरे हैं उन्हांेने स्कोर जरूर किया है।ड्ढr ड्ढr ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चार टेस्टों की सीरीज में वह तीन टेस्ट ही खेल पाए थे। एक टेस्ट के प्रतिबंध के कारण उन्हें नागपुर में आखिरी मैच से बाहर रहना पड़ा था। उन्होंने बेंगलूर में 31 और 2मोहाली में 67 और 104 तथा दिल्ली में 206 और 36 रन बनाए थे। इंग्लैंड के खिलाफ चेन्नई में पहले टेस्ट में उन्होंने 1और 66 तथा मोहाली में दूसरे टेस्ट में 17और रन बनाए थे। गावस्कर और सोबर्स के नजदीक पहुंचे गंभीर नई दिल्ली 26 दिसंबर .वार्ता. दुनिया के टाप टेन बल्लेबाजों में शुमार हो जाने वाले बाएं हाथ के आेपनर गौतम गंभीर हाल के अपने लाजवाब प्रदर्शन की बदौलत सुनील गावस्कर और गैरी सोबर्स जैसे महान खिलाडियों के नजदीक पहुंच गए हैं। वर्ष 2008 में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले गंभीर ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के खिलाफ पिछली दो शंृखलाआें में अपनी लगातार बेहतरीन बल्लेबाजी से दो महीने के अंदर 27 स्थानों की छलांग लगाकर आईसीसी टेस्ट बल्लेबाजी रैंकिंग में दसवें नंबर के बल्लेबाज बन गए हैं। गंभीर का पिछले पांच मैचों में गजब का प्रदर्शन रहा है। इस दौरान उन्होंने 82.40 के बेहद प्रभावशाली औसत से 824 रन बनाए हैं और वह लगातार पांच टेस्टों में गावस्कर का 831 रन का भारतीय रिकार्ड तोड़ने से मामूली अंतर से चूक गए। लेकिन उन्होंने लगातार पांच टेस्टों में वेस्टइंडीज के महान बल्लेबाज सोबर्स के 824 रन बनाने की उपलब्धि के बराबर पहुंच गए। 27 वर्षीय गंभीर ने पिछले पांच टेस्टों में एक दोहरा शतक, दो शतक और तीन अर्धशतक बनाए हैं। वह अपने कैरिअर में अबतक 22 मैचों में 4े औसत से 1826 रन बना चुके हैं, जिनमें चार शतक और नौ अर्धशतक शामिल है। वर्ष 2008 में गंभीर ने आठ मैचों की 16 पारियों में 70.87 के औसत से 1134 रन बनाए हैं, जिनमें तीन शतक और छह अर्धशतक शामिल हैं। इस वर्ष वह जितनी बार भी मैदान में उतरे हैं उन्हांेने स्कोर जरूर किया है। आस्ट्रेलिया के खिलाफ चार टेस्टों की सीरीज में वह तीन टेस्ट ही खेल पाए थे। एक टेस्ट के प्रतिबंध के कारण उन्हें नागपुर में आखिरी मैच से बाहर रहना पड़ा था। उन्होंने बेंगलूरू में 31 और 2मोहाली में 67 और 104 तथा दिल्ली में 206 और 36 रन बनाए थे। इंग्लैंड के खिलाफ चेन्नई में पहले टेस्ट में उन्होंने 1और 66 तथा मोहाली में दूसरे टेस्ट में 17और रन बनाए थे। ऑस्ट्रेलियाई दौरे में त्रिकोणीय शंृखला में गंभीर का हालांकि शानदार प्रदर्शन रहा लेकिन उन्हें दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीन टेस्टों की घरेलू श्रृंखला में जगह नहीं मिली। उनकी जुलाई में श्रीलंका दौरे से टीम में वापसी हुई। श्रीलंका दौरे में जहां टीम इंडिया के सीनियर बल्लेबाजों का प्रदर्शन निराशाजनक रहा था वहीं गंभीर का बल्ला जमकर बोला था। श्रीलंका दौरे से गंभीर लगातार बढ़िया प्रदर्शन करते आ रहें हैं। ना केवल टेस्ट में बल्कि वनडे में भी उनकी बल्लेबाजी गजब की है। वनडे में 2008 में वह नंबर वन बल्लेबाज हैं और इस वर्ष का समापन वनडे में वह नंबर वन के रूप में ही करेंगे। एकदिवसीय मैचों में उन्होंने इस वर्ष 27 वनडे में 46.62 के औसत से 111रन बनाए हैं, जिनमें तीन शतक और सात अर्धशतक शामिल हैं। गंभीर और भारतीय कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी ही एकमात्र ऐसे दो बल्लेबाज हैं जो 2008 में वनडे में एक एक हजार रन पूरे कर पाए हैं। गंभीर के इस वर्ष अन्य भारतीय बल्लेबाजों से तुलना की जाए तो वीरेन्द्र सहवाग ने 14 टेस्टों में 1462 रन वीवीएस लक्ष्मण ने 15 टेस्टों में 1086 रन और सचिन तेंदुलकर ने 13 टेस्टों में 1063 रन बनाए हैं। वनडे में सहवाग ने 18 मैचों में 8रन और युवराज सिंह ने 27 मैचों में 8रन बनाए हैं। इस आधार पर गंभीर टेस्ट और वनडे दोनों में ही अपने इस वर्ष साथी बल्लेबाजों पर भारी पड़ते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ेगावस्कर और सोबर्स के नजदीक पहुंचे गंभीर