अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इधर कूटनीति, उधर सैन्य हलचल

पाकिस्तान के दोस्त सऊदी अरब ने आतंकवाद के मसले पर कड़ा रुख अपनाया है। सउदी अरब के विदेश मंत्री अल फैाल ने शुक्रवार को सुझाव दिया कि संयुक्त राष्ट्र में विशेष इकाई बननी चाहिए, जो जहां भी आतंकवाद हो, उसके खिलाफ कार्रवाई करे। चीन ने भी पाकिस्तान के अड़ियल नकारवादी रुख पर चिंता व्यक्त की है। चीन के विदेश मंत्री ने कहा है कि आंतकवादियों को दंडित किया जाना चाहिए। युद्ध की चर्चा के जरिये विश्व का ध्यान मुंबई हमले से हटाने की पाक कोशिश के बीच गुरुवार को विदेश मंत्री प्रणव मुखर्जी ने चीन के विदेश मंत्री यांग जिएची से आधा घंटे बात की। यांग ने मुखर्जी के तर्को से सहमति व्यक्त की और कहा कि आतंकवादियों को दंडित किया जाना चाहिए। मुखर्जी ने अमेरिकी विदेश मंत्री कोंडालीजा राइस से भी बात की। एक दिन की भारत-यात्रा पर आये सउदी अरब के विदेश मंत्री सऊद अल फैाल ने आतंकवाद को कैंसर बताया और कहा कि सभी देशों को पारदर्शी सहयोग के जरिये इसे खत्म करना चाहिए। प्रणव मुखर्जी ने कहा कि यह भारत-पाक का मामला नहीं, अंतरराष्ट्रीय समस्या है। प्रणव मुखर्जी ने सऊदी विदेश मंत्री को इस बात के सबूत दिये कि किस तरह दस पाकिस्तान प्रशिक्षित आतंकवादी कराची से आकर हमला किया जिसमें 26 विदेशियों सहित 180 लोगों की मौत हो गई।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: इधर कूटनीति, उधर सैन्य हलचल