अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बसपा का टिकट दिलाने वाले कोआर्डिनेटर भी होंगे चिाम्मेदार

राय सरकार के मंत्रियों और विधायकों के बाद बारी कोआर्डिनेटरों और दूसर पदाधिकारियों की थी। बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख एवं उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री मायावती ने शुक्रवार को पार्टी के जिम्मेदार पदाधिकारियों की क्लास ली। उन्हें भरपूर डाँटा और साफ कर दिया कि गलत लोगों को टिकट दिलाने वाले कोआर्डिनेटरों को भी वह नहीं छोड़ेंगी। इसलिए टिकट दिलाते समय सिर्फसाफ-सुथरी छवि के लोगों की ही पैरवी करं।ड्ढr आपराधिक छवि के लोगों से दूर रहें बहुत जरूरी हो तो पूरी तरह ठोंक बजा लें कि बसपा में आने के बाद उसका आचरण हर हाल में सुधर जाएगा। वरना अमर्यादित आचरण होने पर संबंधित व्यक्ित के साथ उसके टिकट की पैरवी करने वाले पदाधिकारी को भी नहीं बख्शा जाएगा। इसके अलावा पार्टी प्रमुख ने पदाधिकारियों को बताया कि किस तरह समाजवादी पार्टी, कांग्रस और भाजपा जैसे विरोधी दल इंजीनियर हत्याकाण्ड को उनके जन्मदिन से जोड़कर बसपा और खुद उनको बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि आने वाले लोकसभा चुनाव में अपनी पराजय के डर से सार विरोधी दल बसपा के खिलाफ एक हो गए हैं। इसको देखते हुए उन्होंने अपने जन्मदिन 15 जनवरी को प्रत्येक विधानसभा स्तर पर ‘विरोधी दल धिक्कार दिवस’ मनाने की व्यापक पैमाने पर तैयारियाँ करने का निर्देश दिया। इससे पहले गुरुवार को बसपा प्रमुख ने मंत्रियों-विधायकों की बैठक में बकायदा मंजू सिंह, विजय समेत कुछ विधायकों के नाम लेकर उनको तत्काल अपना आचरण सुधार लेने का निर्देश दिया था। उन्होंने कहा था कि इसे उनकी अंतिम चेतावनी समझा जाए और अगर इसके बाद किसी प्रकार की घटना उनके संज्ञान में आईं तो कठोरतम दण्ड के लिए तैयार रहें। उनका कहना था कि करीब एक दर्जन लोग ऐसे हैं जिनका खुद का या उनके रिश्तदेारों का आचरण बार-बार हिदायत देने के बावजूद नहीं सुधर रहा है। ऐसे लोगों पर उनकी नजर है और वह किसी को भी अपनी सरकार की इमेज खराब नहीं करने देंगी। सूत्रों के अनुसार बसपा प्रमुख इस बात को लेकर खासी नाराज थीं कि औरैया का विधायक शेखर तिवारी इससे पहले भी सरकार की छवि को खराब करने वाली कई घटनाओं को अंजाम दे चुका था लेकिन वहाँ के जिम्मेदार पदाधिकारियों कोआर्डिनेटरों ने उन्हें इसकी जानकारी तक नहीं दी। अगर समय रहते दूसरी घटनाओं की जानकारी हो जाती तो इतनी दुखद घटना होने से बच जाती। बैठक में अपराधिक छवि के लोगों को शामिल करते वक्त उनसे शपथ पत्र लेने की भी बात हुई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बसपा का टिकट दिलाने वाले कोआर्डिनेटर भी होंगे चिाम्मेदार