DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिर्क्स का यूरोप से IMF प्रमुख बनाए जाने का विरोध

ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका (बिर्क्स देशों) ने मंगलवार को खुलकर इस विचार का विरोध किया कि अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) का अगला प्रबंध निदेशक यूरोप से होना चाहिए। बिर्क्स देशों का तर्क है कि चयन के इस तरह के मानक से आईएमएफ की वैधता कमतर होती है।

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष में बिर्क्स देशों का प्रतिनिधित्व करने वाले कार्यकारी निदेशकों ने एक संयुक्त बयान में कहा कि यह परंपरा कि प्रबंध निदेशक राष्ट्रीयता के आधार पर चुना जाए कोष की वैधता को कमतर बनाता है।

बिर्क्स देशों ने कहा कि हाल ही में विकसित देशों में उत्पन्न वित्तीय संकट से अंतरराष्ट्रीय वित्तीय संस्थानों में सुधार की जरूरत महसूस की गई और इससे विश्व अर्थव्यवस्था में विकासशील देशों की बढ़ती भूमिका भी रेखांकित हुई।

उन्होंने कहा कि 2007 में स्ट्रास कान का चयन किए जाने के समय यूरो समूह के अध्यक्ष ज्यां क्लाड जंकर ने घोषणा की थी कि अगला प्रबंध निदेशक निश्चित तौर पर एक यूरोपीय नहीं होगा और यूरो समूह एवं यूरोपीय संघ के वित्त मंत्रियों में हर कोई इस बात से वाकिफ था कि स्ट्रास कान संभवत: निकट भविष्य में आईएमएफ के प्रमुख बनने वाले अंतिम यूरोपीय हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बिर्क्स का यूरोप से IMF प्रमुख बनाए जाने का विरोध