DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हर जिले में अति पिछड़ा छात्रावास: नीतीश

बिहारी कहलाना अपमान नहीं, शान बने, ऐसा बिहार बनाने के लिए हम कटिबद्ध हैं। दो जून की रोटी के लिए अब लोगों को दूसर प्रदेशों में नहीं जाना पड़ेगा। पहले की सरकार लाठी में तेल पिलाने की बात कहती थी, मैं कलम में स्याही भरने की अपील कर रहा हूॅं ताकि शिक्षा के माध्यम से विकास की लहर सभी तक पहुंच सके। उक्त बातें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को यहां रलवे मैदान में जदयू अति पिछड़ा सम्मेलन के उद्घाटन के दौरान कही। उन्होंने हर जिले में अति पिछड़ा छात्रावास खोलने की घोषणा की। इसके पहले नक्सल प्रभावित क्षेत्र बंजारी में मुख्यमंत्री ने सरदार वल्लभ भाई पटेल की प्रतिमा का अनावरण किया।ड्ढr ड्ढr साथ ही पटेल विचार मंच के संस्थापक स्व. राम प्रवेश सिंह के चित्र पर भी माल्यार्पण किया। इस मौके पर उन्होंने नक्सलियों से समाज की मुख्य धारा से जुड़ने की अपील की। समारोह में जदयू के राष्ट्रीय प्रवक्ता शिवानन्द तिवारी ने हिन्दू समाज से कहा कि वे अल्पसंख्यकों के मन में उपजे भय को दूर कर उनका विश्वास जीतें। कार्यक्रम में सांसद अली अनवर, सुशील कुमार मोदी, मुनिलाल, पूर्व सांसद मीना सिंह, विधान पार्षद रामधनी सिंह आदि ने सम्बोधित किया। अध्यक्षता जदयू अति पिछड़ा प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष शिवजी चौधरी ने की। बजारी में समारोह की अध्यक्षता विधायक जवाहर प्रसाद ने की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: हर जिले में अति पिछड़ा छात्रावास: नीतीश