अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आतंक के खिलाफ एकता सबसे बड़ा हथियार: राष्ट्रपति

राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल ने 26 नवंबर को मुंबई में हुए आतंकवादी हमले की निंदा करते हुए कहा है कि आतंकवाद के खिलाफ एकजुटता सबसे बड़ा हथियार है। राष्ट्रपति ने नागपुर में स्थित राष्ट्रसंत तुकडोजी महाराज विश्वविद्यालय में दो दिवसीय सांप्रदायिक भाईचारा और सामाजिक शांति सम्मेलन का शनिवार को उद्घाटन करते हुए कहा कि आतंकवादी हमला सिर्फ मुंबई पर नहीं हुआ बल्कि यह देश और संस्कृति पर हमला था। उन्होंने कहा कि आतंकवादियों का कोई धर्म नहीं होता। वे सिर्फ बेगुनाहों के मौत और विध्वंस के सौदागर होते हैं। समाज में भय और कटुता फैलाना तथा राष्ट्रीय विकास में बाधा उत्पन्न करना उनका काम है। श्रीमति पाटिल ने कहा कि हमें कोई बांट नहीं सकता, हमारी एकता को कोई तार तार नहीं कर सकता। देश बाधाआें का सामना करते हुए विकास पथ पर तेजी से चलता रहेगा। उन्होंने सचेत करते हुए कहा भूतकाल की गलतियों को दोहराना नहीं चाहिए और सुरक्षा में कोई ढ़ील नहीं होनी चाहिए। उन्होंने बताया कि सरकार जनता की सुरक्षा के लिए कड़े कदम उठा रही है जिसमें सभी नागरिकों के सहयोग की अपेक्षा है। उन्होंने आतंकवाद और हिंसा को जड़ से समाप्त करने के लिए जनता से आग्रह किया। राष्ट्रपति ने कहा कि इस समय देश के हर व्यक्ित को देश को सुदृढ़ बनाने के लिए अपना योगदान देना चाहिए। उन्होंने कहा कि मुंबई में आतंकवादी हमला होने के बाद विश्व समुदाय ने भारत के साथ एकजुटता दिखाई और अब समय आ गया है कि सभी राष्ट्र मिलकर आतंकवाद का नामोनिशान मिटा दें। उन्होंने कहा कि वैश्विक शांति के लिए आतंकवाद और उसे पालने पोसने वालों को हराना होगा। उद्घाटन समारोह के दौरान महाराष्ट्र के रायपाल और राष्ट्रसंत तुकडोजी महाराज नागपुर विश्वविद्यालय के कुलाधिपति एस सी जमीर ने कहा कि राजनीतिक स्वार्थ और मौकापरस्ती से देश में सांप्रदायिक एकता को नुकसान होता है। जमीर इस अवसर पर विश्वविद्यालय की स्मारिका का भी उद्घाटन किया। उन्होंने कहा कि सभी धार्मिक गुरू शांति, भाईचारा और एकता की बात बताते हैं और यदि सभी अनुयाई उनकी बात मानें तो सांप्रदायिकता भंग नहीं हो सकती। इस अवसर पर मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण ने विशेष रूप से सभी युवाआें से सभी धमर्ों का आदर करने के साथ ही आतंकवाद तथा हिंसा को समाप्त करने के लिए अपने स्तर पर सहयोग करने का आह्वान किया। इस अवसर पर उपमुख्यमंत्री छगन भुजबल और केंद्रीय उर्जा राय मंत्री विलास मुत्तेमवार और कई अन्य नेतागण उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ‘आतंक के खिलाफ एकता सबसे बड़ा हथियार’