DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पंचायत चुनाव: अब 28 मई तक मतदान

बिहार में चल रहे पंचायत चुनाव के लिए नक्सल प्रभावित इलाकों में पुलिस द्वारा कड़े सुरक्षा प्रबंध करने के भरोसे के बाद राज्य निर्वाचन आयोग ने पांच जिलों में मतदान के संशोधित कार्यक्रम की घोषणा की है।

ज्ञात हो कि निर्वाचन आयोग ने पहले घोषणा की थी कि 20 अप्रैल को पहले चरण का मतदान आरम्भ होगा और यह 10वें चरण में 18 मई को सम्पन्न होगा। इसके बाद इस तिथि को 24 मई तक के लिए बढ़ा दिया गया था। अब इसे 28 मई तक बढ़ा दिया गया है।

राज्य में नौवें चरण के मतदान के दौरान रविवार को नक्सलियों द्वारा एक बारूदी सुरंग विस्फोट की घटना को अंजाम देने और सात चुनावकर्मियों को अगवा कर लेने के बाद आयोग ने सोमवार को जमुई, बांका, गया, औरंगाबाद और रोहतास जिले के पुनर्मतदान को छोड़कर 21 और 24 मई को होने वाले सभी मतदान को स्थगित कर दिया था। नक्सलियों ने हालांकि मंगलवार को सभी अगवा चुनावकर्मियों को छोड़ दिया।

आयोग के सचिव अहिभूषण पांडेय ने बुधवार को बताया कि राज्य के आला अधिकारियों के साथ विचार-विमर्श के बाद क्षेत्रों में मतदान के पुनर्निर्धारित कार्यक्रम घोषित कर दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि अब सिर्फ 195 नक्सल प्रभावित पंचायतों में ही अलग-अलग तिथियों में मतदान कराया जाना है इसके लिए सुरक्षा के व्यापक प्रबंध किए जाएंगे।

उन्होंने बताया कि 21 मई को जमुई के खैरा प्रखंड, औरंगाबाद के नवीनगर, कुटुम्बा, पूर्वी चम्पारण के छौडादानो एवं चकिया, बांका के फुल्लीडुमर, सहरसा के महिषी, गया जिले के बांके बाजार, एवं इमामगंज में मतदान होगा। इसी तरह 24 मई को जमुई के झाझा, औरंगाबाद के मदनपुर, कुटुम्बा, देव और गया जिले के डुमरिया प्रखंड के कई पंचायतों में वोट डाले जाएंगे।

इसके अलावा 26 मई को रोहतास जिले के नौहट्टा एवं रोहतास प्रखंड में 28 मई को जमुई के लक्ष्मीपुर, औरंगाबाद के देव और गया जिले के डुमरिया और बाराचट्टी प्रखंडों के कई ग्राम पंचायतों में मतदान होंगे। उन्होंने बताया कि पांच जिलों बक्सर, भोजपुर, कैमूर, गोपालगंज एवं अररिया में मतगणना बुधवार से प्रारम्भ हो गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पंचायत चुनाव: अब 28 मई तक मतदान