DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वाराणसी में अधिवेशन और मिशन 2012 पर मंथन

वाराणसी में अधिवेशन और मिशन 2012 पर मंथन

वाराणसी में बुधवार को उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी का दो दिवसीय प्रांतीय अधिवेशन शुरू हो गया। कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी ने ध्वजारोहण कर इसकी औपचारिक शुरुआत की।

नदेसर में हो रहे अधिवेशन के पहले दिन उदघाटन सत्र को राहुल गांधी को सम्बोधित करना था लेकिन अधिवेशन की शुरुआत कर उन्होंने कहा, ''मैं यहां सुनने आया हूं। इसलिए पहले सबकी बात सुनूंगा और फिर शाम में अपने विचार रखूंगा।'' कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी गुरुवार को अधिवेशन के समापन सत्र को सम्बोधित करेंगी। बाद में सोनिया गांधी बेनियाबाग में एक विशाल जनसभा को भी संबोधित करेंगी।

इस बीच जल संसाधन व अल्पसंख्यक मामलों के केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद ने कार्यकर्ताओं व पार्टी पदाधिकारियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि हाल में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के कुछ विधायकों को उनके कृत्यों के लिए उम्रकैद की सजा दी गई है। अब जनता की बारी है। बसपा सरकार को जनता उम्रकैद की सजा देगी ताकि वह कभी हमारे सामने खड़ी न होने पाए।

कांग्रेस महासचिव व उत्तर प्रदेश के प्रभारी दिग्विजय सिंह ने कहा कि मायावती दलित मुख्यमंत्री हैं लेकिन दलितों की हालत सबसे ज्यादा उत्तर प्रदेश में ही खराब है। माया सरकार सिर्फ पूंजीपतियों को जमीन आवंटित कर रही हैं। स्थिति यह है कि नोएडा और ग्रेटर नोएडा में कोई गरीब जमीन खरीदना भी चाहे तो नहीं खरीद सकेगा।

अधिवेशन शुरू होने से पहले प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता वीरेंद्र मदान ने वाराणसी में संवाददाताओं से कहा कि राहुल और सोनिया गांधी के निर्देशन में पार्टी इस सम्मेलन में आगामी विधानसभा चुनाव के लिए नीति निर्धारण कर जनता से अपने जुड़ाव को सुदृढ़ बनाने पर जोर देगी।

प्रांतीय अधिवेशन के आयोजन के लिए वाराणसी का चयन किए जाने के सम्बंध में सवाल पूछे जाने पर मदान ने कहा कि वाराणसी के ऐतिहासिक महत्व को ध्यान में रखने के अलावा हमें लगता है कि यहां से हम पूर्वांचल की जनता से जुड़कर पार्टी की खोई जमीन को वापस ला सकेंगे। पूर्वी उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के सिर्फ तीन विधायक हैं।

कांग्रेस पदाधिकारियों के मुताबिक अधिवेशन के दौरान भूमि अधिग्रहण सहित किसानों से जुड़े अन्य मुद्दों पर विशेष रूप से चर्चा होगी। इसमें पार्टी से जुड़े सेवा दल, युवक कांग्रेस व महिला कांग्रेस संगठन भी हिस्सा लेंगे।

अधिवेशन के मद्देनजर वाराणसी की सड़कें झंडे और पोस्टरों से अटी हुई हैं। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रमुख चौक-चौराहों पर सोनिया और राहुल के स्वागत के लिए उनके विशाल कटआउट लगाए हैं।
 
खासकर पार्टी के युवाओं में जोश नजर आ रहा है, जो भारी संख्या में जगह-जगह मोटरसाइकिल से रैलियां निकालकर दो दिवसीय कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए जनता से अपील कर रहे हैं। उधर कांग्रेस के अधिवेशन के मद्देनजर यहां सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:वाराणसी में अधिवेशन और मिशन 2012 पर मंथन