DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आगरा में चंदा न देने पर लोजपा नेता की हत्या

उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री मायावती के जन्मदिन के लिए कथित रूप से चंदा न देने पर आगरा में शुक्रवार की रात लोजपा युवा शाखा के जिलाध्यक्ष मनीष यादव की हत्या कर दी गई। लोजपा ने हत्या का आरोप बसपा विधायक मधुसूदन शर्मा और राज्य मंत्री रामवीर उपाध्याय पर लगाते हुए मुख्यमंत्री मायावती की बर्खास्तगी की मांग की है और सोमवार को आगरा तथा मथुरा बंद करने का एलान किया है। पार्टी ने विधायक और राज्य मंत्री के साथ ही गोली चलाने वाले सोनू पंडित, मोनू पंडित और संजय पंडित की तुरंत गिरफ्तारी की मांग की है।ड्ढr ड्ढr औरैया हत्याकांड के बाद शुक्रवार को आगरा में भी वैसी ही घटना के बाद मुख्यमंत्री मायावती के खिलाफ बना राजनीतिक माहौल और गरम हो गया है। लोजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष रामविलास पासवान ने आगामी 15 जनवरी को मायावती के जन्म दिवस को खूनी दिवस के रूप में मनाने की घोषणा की है। इससे पहले सपा महासचिव अमर सिंह इसे धिक्कार दिवस के रूप में मनाने की घोषणा कर चुके हैं। 2दिसंबर को लोजपा लखनऊ और दिल्ली में बसपा सरकार की बर्खास्तगी और राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू करने की मांग को लेकर धरना और प्रदर्शन का आयोजन करगी। इस बीच रामविलास पासवान शनिवार को मृतक मनीष के गांव बरौली अहिर पहुंच उसके परिजनों को सांत्वना दी। पासवान ने आरोप लगाया है कि मनीष के दिनदहाड़े हत्या करने वाले बसपा के स्थानीय विधायक मधुसूदन शर्मा और उत्तर प्रदेश में मंत्री रामवीर उपाध्याय के दाहिने हाथ हैं। उन्होंने कहा कि हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई जा चुकी है लेकिन स्थानीय प्रशासन हाथ पर हाथ धर बैठा है। उन्होंने बताया कि आगामी 2तारीख को आगरा बंद का भी आह्वान किया गया है। बसपा सरकार निर्दोष लोगों की बलि ले रही है, इसलिए यह खूनी सरकार है। लिहाजा लोजपा ने उनके जन्मदिवस को खूनी दिवस के रूप में मनाने का फैसला किया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आगरा में चंदा न देने पर लोजपा नेता की हत्या