DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शहरवासियों के लिए मेट्रो खास सौगात लेकर आएगी। कोच में सवारियों के बीच धक्का-मुक्की की नौबत न आए, इसके लिए डीएमआरसी ने स्टैंडर्ड गेज पर ब्रॉड गेज कोच वाली मेट्रो दौड़ाने का फैसला लिया है। ऐसे कोच में मेट्रो के मौजूदा कोच से 60 यात्री अधिक सफर कर सकेंगे।

इसका डिजाइन लगभग तैयार है और डीएमआरसी खास तरह के इन कोचों को बनाने के लिए जल्द ही टेंडर निकालेगी। गौरतलब है कि फेज-तीन के प्रोजेक्ट के लिए मेट्रो कोच को लेकर नया डिजाइन तैयार किया जा रहा है। इसे प्रोजेक्ट में फरीदाबाद भी शामिल है। इस डिजाइन के तहत स्टैंडर्ड गेज पर चलने वाली मेट्रो में ब्रॉड गेज पर चलने वाली मेट्रो के बराबर यात्री यात्रा कर सकेंगे।

दरअसल, मेट्रो फेज-3 में स्टैंडर्ड गेज की लाइन बिछाई जानी है। अब तक स्टैंडर्ड गेज की लाइन पर मेट्रो दौड़ रही है। इसके एक कोच में 240 यात्री सफर करते हैं। ब्रॉड गेज पर प्रति कोच यात्रियों की संख्या बढ़कर 300 हो जाएगी। दुनिया के कई मुल्कों में स्टैंडर्ड गेज पर ही मेट्रो दौड़ती है।

मेट्रो के पहले फेज में ब्रॉड गेज की लाइन बिछाई गई और इसके लिए स्पेशल मेट्रो कोच का निर्माण करवाया गया। इसके बढ़े लागत को देखते हुए दूसरे फेज में मेट्रो तो स्टैंडर्ड गेज पर ही दौड़ाई गईं, पर तीसरे फेज में कोचों को लेकर नया प्रयोग किया जा रहा है। इसमें कोच की चौड़ाई ब्रॉड गेज पर चलने वाले कोचों के बराबर होगी। इसका निचला ढांचा स्टैंडर्ड गेज जैसा रहेगा।

उल्लेखनीय है कि बदरपुर-वाईएमसीए प्रोजेक्ट फेज-3 में 13.875 किलोमीटर लंबी मेट्रो लाइन बनाई जानी है। इस पर 2533 करोड़ रुपये खर्च आने का अनुमान है। इसके लिए हरियाणा सरकार 1588.60 करोड़, केंद्र सरकार 544.40 करोड़ व डीएमआरसी 400 करोड़ रुपये अदा करेगी। इसकी डेडलाइन दिसंबर 2014 निर्धारित की गई है।

मेट्रो के अधिकारी भी नई कोच तकनीक को लेकर उत्साहित है। मेट्रो असिस्टेंट चीफ प्रवक्ता, संध्या शर्मा : दूसरे फेज में बने स्टैंडर्ड गेज लाइनों के कोचों को कोरियाई कंपनी ने बनाया था। फेज-3 में जल्द नए डिजाइन किए मेट्रो कोच बनाने के लिए निविदाएं मांगी जाएंगी। फरीदाबाद में भी इस नए कोच लेकर मेट्रो आएगी। इससे यहां बोगी में यात्रियों को भारी भीड़ से नहीं जूझना पड़ेगा।

दोनों में क्या है अंतरः ब्रॉड गेज की चौड़ाईः 5 फुट 6 इंच जबकि स्टैंडर्ड गेज की चौड़ाई 4 फुट 8.5 इंच। ब्रॉड गेज पर चलने वाली मेट्रो ट्रेन की चौड़ाई- 3.2 मीटर, स्टैंडर्ड गेज पर चलने वाली मेट्रो ट्रेन की चौड़ाई- 2.9 मीटर, फेज-3 में स्टैंडर्ड गेज पर चलने वाली ट्रेन की चौड़ाई- 3.2 मीटर, मेट्रो फेज-1 : 65 किमी.लाइन, 59 स्टेशन, स्टेशन के बीच दूरी 1.1 किमी. मेट्रो फेज-2 : 124 किमी., 83 स्टेशन, 1.3 किमी. दूरीमेट्रो फेज-3 : 127 किमी., 69 स्टेशन, 1.55 किमी. दूरी बदरपुर-वाईएमसीए मेट्रो पर एक नज़र-13.875 किलोमीटर लंबा है रूट- दिसंबर 2014 तक बनाया जाना है रूट- सराय से वाईएमसीए तक 9 स्टेशन बनेंगे- 2533 करोड़ रुपये का है प्रोजेक्ट प्रस्तावित नौ मेट्रो स्टेशन बदरपुर-वाईएमसीए लाइन पर - सराय ख्वाजा, एनएचपीसी चौक, मेवला महाराजपुर, सेक्टर-27ए, बड़खल मोड़, ओल्ड फरीदाबाद, अजरौंदा, न्यूटाउन फरीदाबाद और वाईएमसीए

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मेट्रो को मिलेगा ब्रॉड गेज कोच का तोहफा