अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रिम्स छात्र और बस्ती के लोग भिड़े

मामूली सड़क दुर्घटना के बाद हुए विवाद में शनिवार को रिम्स के छात्रों और बरियातू बस्ती के लोगों के बीच जबर्दस्त संघर्ष हुआ। बूटी-बरियातू सड़क और रिम्स का मैदान पांच घंटे तक रणक्षेत्र बना रहा। दोनों ओर से ईंट, रोड़े, बोतल और पत्थर चले। तलवार और हथियार भी भांजे गये। मारपीट और संघर्ष में गंभीर रूप से घायल वार्ड छह के पार्षद जावेद अख्तर और रिम्स के डॉक्टर धर्मेद्र को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इनके अलावा दोनों पक्षों के चालीस से भी ज्यादा लोग जख्मी हुए। डीएसपी महेश पासवान समेत कई पुलिसकर्मियों को भी चोट लगी है। मौके पर पहुंची पुलिस पहले तो मूकदर्शक रही, बाद में उसने भी लाठी चार्ज किया।ड्ढr घटना के बाद गुस्साये रिम्स के डॉक्टरों ने हड़ताल कर दी है। अस्पताल की सभी इमरोंसी सेवाएं बंद करा दी गयी हैं। इससे अस्पताल की चिकित्सा व्यवस्था लगभग पूरी तरह ठप हो गयी है। उधर स्थानीय लोगों के सड॥क पर उतर आने की वजह से बरियातू-बूटी मार्ग पर घंटों जाम लगा रहा। कई राहगीर पिटे।ड्ढr मामूली बात पर बवाल : बताया गया कि डॉक्टर्स कालोनी में रहने वाले डॉ धर्मेद्र सुबह 10 बजे रिम्स आ रहे थे। रिम्स के सामने सड़क पर उनकी कार और एक मोटरसाइकिल के बीच मामूली टक्कर हुई। मोटरसाइकिल पर दो स्थानीय युवक मो नसीम और मो जनुल थे। टक्कर के बाद दोनों पक्षों के बीच कहासुनी और इसके बाद मारपीट हुई। इसी बीच पार्षद जावेद अख्तर और बस्ती के कुछ लोग रिम्स गेट पर पहुंचे। तब तक रिम्स के छात्र भी हॉस्टल से वहां पहुंच चुके थे। देखते-देखते मामूली बात बवाल में बदल गयी। दिन के तीन बजे दोनों पक्षों को समझाया गया। कानूनी कार्रवाई के आश्वासन के बाद मामला शांत हुआ।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: रिम्स छात्र और बस्ती के लोग भिड़े