DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छात्र फेसबुक से कर रहे हैं तनाव हल्का

आईसीएसई (काउंसिल फॉर द इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन) बोर्ड के दसवीं के परिणाम मंगलवार को घोषित हो जाएंगे। ऐसे में फेसबुक पर दसवीं के छात्र अपनी हालत बयां कर रहे हैं। यही नहीं छात्र एक दूसरे के साथ मजाक कर तनाव को हल्का कर रहे हैं।

युवाओं के बीच सबसे प्रसिद्ध सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक आईसीएससी बोर्ड के परिणामों से पहले उनके विचारों का एक प्लेटफॉर्म बना हुआ है। इसके द्वारा कई छात्र अलग-अलग छात्रों से दोस्ती कर उनसे परिणामों का कैसे सामना करें, यह बता और पूछ रहे हैं। छात्रों ने इसलिए एक खास कम्युनिटी भी बनाई है। इसमें सभी छात्र इस तरह से लिख रहे हैं जैसे परिणाम नहीं कोई समस्या हो। भाव्यता ने लिखा है कि मेरा दिल बहुत तेजी से धड़क रहा है। ऐसा लग रहा है जैसे दिल बड़ा होता जा रहा है। वहीं कुछ छात्रों ने तो उल्टी गिनती शुरू कर दी है। वह हर घंटे फेसबुक पर अपना स्टेटस अपडेट करते हैं। तान्या लिखती हैं कि वह मंगलवार तीन बजे का इंतजार कर रही है। सुबह उन्होंने कम खाया है और हालत ऐसी है कि शाम का भोजन तो पेट तक पहुंच ही नहीं सकता।

फेसबुक के जरिए छात्र अपने दिल की सभी बातें एक-दूसरे तक पहुंचा रहे हैं। जानकार मानते हैं कि अगर बच्चे इस तरह से अपना मन हल्का कर रहे हैं तो यह अच्छी बात है। मनोवैज्ञानिक पूजा जैन का कहना है कि फेसबुक एक दोस्त का रोल अदा कर रही है। इससे दोस्तों से जुड़े रह सकते हैं। फेसबुक का सबसे बड़ा फायदा यह है कि बच्चों की टेंशन कम हो रही है।

डीयू साइकोलॉजी विभाग के प्रमुख अशुम गुप्ता कहते हैं अभिभावक छात्रों से ज्यादा उम्मीदें न लगाएं। जरुरी नहीं अगर परिणाम अच्छा नहीं है तो आगे के सभी रास्ते बंद हो गए हैं। इस समय सबसे ज्यादा जरूरी है कि बच्चा अपना ध्यान परिणाम से दूर करे और परेशान न हो।

क्या कह रहे हैं छात्र

मेरी नींद गायब हो चुकी है, मेरे दिन खराब हो चुके हैं। हे भगवान क्या यह प्यार है? भगवान ने उत्तर दिया नहीं बोर्ड परिणाम पास है ऑल द बेस्ट।
अगर मैं पास हो गया तो मेरे पापा मुझे तोहफा देंगे। अगर फेल हो गया तो मैं उन्हें क्या मुहं दिखाउंगा। बहुत असमंजस में हूं दोस्तों।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:छात्र फेसबुक से कर रहे हैं तनाव हल्का